Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सस्ती लोकप्रियता हासिल करने में मशगूल है सपा सरकार: मायावती

 Vikas Tiwari |  2016-10-04 15:07:54.0

मायावती

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. बीएसपी राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सपा सरकार हमला करते हुए कहा कि प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार ने केवल चुनावी स्वार्थ व सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिये बिना पूरी तैयारी के ही विभिन्न योजनाओं की घोषणा व शिलान्यास का सिलसिला शुरू कर दिया गया है।

उन्होंने ने सपा सरकार पर आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार जनता की आँखों में धूल झोंक रही है।

मायावती ने आगे बोलते हुए कहा कि इस प्रकार के शिलान्यासों के माध्यम से अपने नाम का शिलापट व शिलान्यास का पत्थर उन स्थलों पर लगाने की होड़ में नरेन्द्र मोदी सरकार के मंत्रीगण भी पीछे नहीं हैं।


आज कानपुर मेट्रो का शिलान्यास किये जाने पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये मायावती ने कहा कि विकास व खासकर मेट्रो के निर्माण के मामले में सपा सरकार ख़ुद का मजाक बनवा रही है,

उन्होंने कहा कि सपा सरकार के साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल में ज्यादातर योजनाओं का केवल शिलान्यास ही हुआ है व पत्थर लगवाये गये हैं। जनहित में उनका उद्घाटन नहीं हो पाया है।

यही कारण हैं कि आज कानपुर मेट्रो के शिलान्यास के समय स्थानीय जनता में उत्साह की काफी ज्यादा कमी देखी गयी व कार्यक्रम में भी ज्यादातर कुर्सियाँ खाली ही पड़ी थी।

यही हाल ’लखनऊ मेट्रो’ का भी है, जिसकी सारी बुनियादी तैयारी बसपा के शासनकाल में कर दी गयी थी, लेकिन शिलान्यास पर पत्थर अपना लगवा दिया गया है।

बसपा सुप्रीमो ने बताया कि प्रदेश में मेट्रो की शुरुआत बसपा के शासनकाल में नोएडा क्षेत्र से की गयी थी, जबकि सपा सरकार केवल घोषणायें व बिना समुचित धन आवंटन आदि की व्यवस्था किये हुये ही केवल शिलान्यास ही करती जा रही है ताकि अपने नाम का पत्थर लगवाया जा सके।

कल लखनऊ में नये मुख्यमंत्री कार्यालय के उद्घाटन पर सवाल उठाते हुए बसपा अध्यक्ष ने कहा की इस भवन का अभी काफी काम अधूरा है। उन्होंने सीएम अखिलेश पर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का आरोप लगाया।

उन्होंने आगे कहा की बी.एस.पी. ज्यादातर मामलों में शिलान्यास व घोषणाओं के बजाय, जनहित की योजनाओं को अमलीजामा पहनाकर उनका उद्घाटन करने में करती है, जैसाकि सर्वविदित है।

इसी परिपेक्ष्य में लोगों का यह पूछना सही है कि वर्तमान सपा सरकार द्वारा पिछले लगभग साढ़े चार वर्षो के दौरान जो सैकड़ो छोटी-बड़ी घोषणायें की गयी है, उनको लागू होने का सही हिसाब-किताब प्रदेश की जनता को अब चुनाव से पहले क्यों नहीं दिया जा रहा है।

सपा सरकार द्वारा प्रदेश के चीनी मिल मालिकों पर विशेष मेहरबानी दिखाते हुये उनका 680 करोड़ रूपया का ब्याज माफ कर दिये जाने के फैसले की तीखी आलोचना करते हुये उन्होंने कहा कि ठीक चुनाव से पहले चीनी मिल मालिकों पर ऐसी ख़ास मेहरबानी से दाल में काफी कुछ काला साबित होता है।

इसके साथ ही मायावती ने यह भी कहा कि एक तरफ तो पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गन्ना किसान चीनी मिलों द्वारा उनका बकाया नहीं देने के कारण काफी ज्यादा गहरे संकट में हैं और आन्दोलनरत हैं।

परन्तु उन गन्ना किसानों की माँगों पर समुचित ध्यान देकर उनका बकाया अदा करवाने के बजाय अखिलेश सरकार उलटे चीनी मिल मालिकों के पक्ष में ही फैसले लेकर उनका 680 करोड़ रुपये का ब्याज माफ कर दिया है, यह गन्ना किसानों के साथ विश्वासघात व उनके ज़ख़्मों पर नमक छिड़कने वाला काम है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top