Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दलित-ब्राह्मण और मुस्लिम समीकरण साधने आज सड़क पर उतरेंगी सोनिया गांधी

 Abhishek Tripathi |  2016-08-02 03:30:05.0

sonia_gandhi_road_show_varanasiतहलका न्यूज ब्यूरो
वाराणसी. यूपी विधान सभा चुनाव के लिए कांग्रेस की ओर से औपचारिक तौर पर शंखनाद के लिए प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र को चुना गया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मंगलवार को रोड शो के जरिए इसकी विधिवत शुरुआत करेंगी। तैयारियों के लिए पहले से जमे प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, सलमान खुर्शीद और पार्टी के रणनीतिकार प्रशांत किशोर का साथ देने सीएम दावेदार शीला दीक्षित भी सोमवार को बनारस पहुंचीं और दिग्गजों संग रणनीति तैयार करने में जुट गईं। रोड शो का रूट बता रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष का रोड शो कई समीकरणों को साधने वाला होगा। अंबेडकर पार्क से इसकी शुरुआत जहां दलित वोटरों को अपने पाले में करने की कोशिश होगी, वहीं मुस्लिम बहुल इलाकों को रूट में अधिकाधिक शामिल करने का उद्देश्य उनसे अपनापन जताना है। इसके अलावा मैदागिन से लेकर इंग्लिशिया लाइन तक का रास्ता ब्राह्मण बहुल है, जिस उद्देश्य की पूर्णाहुति पं. कमलापति त्रिपाठी की प्रतिमा पर शो के समापन के साथ होगी।


राष्ट्रीय अध्यक्ष के रोड शो को भव्य बनाने के लिए पार्टी की ओर से पूरी ताकत झोंक दी गई है। इसके तहत दिग्गजों से लेकर आम कार्यकर्ताओं तक ने जनसंपर्क, चौपाल और बैठकों के माध्यम से लोगों को रोड शो में आने के लिए न्योता दिया है। बनारस में होने जा रहे रोड शो में पूर्वांचल के करीब 16 जनपदों सहित बिहार, झारखंड, एमपी व छत्तीसगढ़ तक के कार्यकर्ताओं का जुटान होगा।


असल शो तो बाबतपुर से ही
सोनिया गांधी मंगलवार की सुबह करीब 11 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंच जाएंगी। वैसे तो प्रस्तावित रोड शो सर्किट हाउस से है, लेकिन तैयारियां बता रही हैं कि बाबतपुर से ही काफिला रोड शो की मानिंद निकलेगा। इसी क्रम में तरना में दस हजार बाइक संग कार्यकर्ता जुलूस में शामिल होंगे। दोपहर एक बजे कचहरी अंबेडकर पार्क से विधिवत रोड शो शुरू होगा, जो विभिन्न मार्गों से होता हुआ शाम चार बजे तक इंग्लिशिया लाइन पर खत्म होगा।


सरकार बनी तो पूर्वांचल को विशेष पैकेज: शीला
यूपी में कांग्रेस की सीएम प्रत्याशी शीला दीक्षित ने कहा है कि अबकी सूबे में कांग्रेस की सरकार बननी तय है। कांग्रेस सत्ता में आएगी तो पूर्वांचल के लिए विशेष पैकेज दिया जाएगा। 27 वर्षों में सूबे की खासकर पूर्वांचल की घोर उपेक्षा की गई है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top