Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

RSS की नीतियों के चलते इमामबाड़ों में हो रही अश्लीलता पर प्रशासन खामोश

 Anurag Tiwari |  2016-05-27 09:46:28.0

[caption id="attachment_83168" align="alignnone" width="1024"]Shia CLeric, Maulana Kalbe Jawad Naqvi, Lucknow File Photo: इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी[/caption]

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ.इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने लखनऊ के डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन पर इल्जाम लगाया है कि वह आरएसएस की इमाम बाड़ों की धार्मिक स्थिति खत्म करने की नीति के चलते इमामबाड़ों में हो रही अश्लीलता पर खामोसी अख्तियार किए हुए है। उन्होंने यह भी इल्जाम लगाया कि उच्चाधिकरियों की हिम्मत नहीं है कि वह इमाम बाड़ों में ऐसी हरकतों की अनुमति दे सकें मगर उन्हें यह आदेश ऊपर से मिलते हैं , इसलिए ये प्रशासन और सरकार की मिलीभगत है और इबादतगाहों की पवित्रता का हनन किया जा रहा है, इसलिए अब उपयुक्त कदम उठाना जरूरी हैं। अगर अभी भी लोग मैदान में नहीं आते हैं तो इतिहास कभी उन्हें माफ नहीं करेगी।


अश्लील हरकतों के खिलाफ होगा प्रदर्शन

मौलना कल्बे जवाद ने शुक्रवार को जारी एक प्रेस रिलीज में कहा कि इमाम बाड़ों की धार्मिक स्थिति को खत्म करने की साजिश, इबादतगाहों को अपवित्र किये जाने और हुसैनाबाद ट्रस्ट में जारी भ्रष्टाचार के खिलाफ शिया समुदाय ब़डी पैमाने पर जिला प्रशासन और सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की तैयारियों में व्यस्त है। इस संबंध मैं शिया कौम के बुजुर्ग सक्रिय और अग्रणी लोगों ने विचार-विमर्श के लिए 1 जून को रात मै 8 बजे छोटे इमामबाड़े में एक जनसभा बुलाई गई है। इस सभा में मातमी अंजुमनों और ओलमा को बुलावा भेजा गया है ताकि उनसे इमाम बाड़ों की धार्मिक स्थिति को समाप्त करने की हो रही मंसुबा बंदियों और इबादतगाहों की पवित्रता का उल्लंघन किये जाने और सरकार के निराशाजनक रवैया पर विचार विमर्श कर उचित कदम उठाने की तैयारी की जा सके।

वक्फ की लड़ाई निजी है

छोटे इमामबाड़े में जो जनसभा रखी गयी है उसमें सभी ओलमा, मातमी अंजुमनों को आमंत्रित किया जाएगा ।मौलाना ने कहा कि इससे पहले भी मौलवी हज़रात को आमंत्रित किया जाता रहा है, लेकिन वह कहते थे कि वक्फ की लड़ाई उनकी निजी लड़ाई है मगर अब तो इमाम बाडों की धार्मिक स्थिति खतरे में है और पवित्रता का हनन किया जा रहा है तो अब देखना होगा कि उनमें कितनी जागरूकता आई है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top