Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

शीला दीक्षित और राजबब्बर ने गिनाये यूपी की बदहाली के कारण

 Sabahat Vijeta |  2016-09-03 16:13:54.0

congress-sheela


लखनऊ. उ.प्र. कांग्रेस द्वारा चलायी जा रही ‘‘27साल यूपी बेहाल’’ यात्रा के दूसरे चरण की दो यात्राओं के 21अगस्त से 9 अक्टूबर को प्रदेश के विभिन्न जनपदों में व्यापक जनसम्पर्क कार्यक्रम के तहत आज 3 सितम्बर को दोनों यात्राएं क्रमशः वाराणसी से मुख्यमंत्री पद की प्रत्याशी श्रीमती शीला दीक्षित के नेतृत्व में एवं दूसरी यात्रा वाराणसी से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर सांसद के नेतृत्व में शुरू हुई।


इस यात्रा के तहत आज पहली यात्रा में उ.प्र. में मुख्यमंत्री पद की प्रत्याशी श्रीमती शीला दीक्षित, प्रचार अभियान समिति के चेयरमैन डॉ. संजय सिंह, पूर्व सांसद जफर अली नकवी, प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक भगवती प्रसाद चौधरी, पूर्व सांसद डॉ. संतोष सिंह शामिल रहे।


इसी प्रकार यात्रा नंबर 2 में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर सांसद, समन्वय समिति के चेयरमैन एवं सांसद प्रमोद तिवारी, अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन एवं सांसद पी.एल. पुनिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजाराम पाल, आर.ए. प्रसाद, डॉ. प्रमोद पाण्डेय शामिल रहे।


पहली यात्रा मुख्यमंत्री पद की प्रत्याशी श्रीमती शीला दीक्षित जी के नेतृत्व में वाराणसी(बावतपुर एयरपोर्ट) से आरम्भ हुई। बावतपुर से मड़िहां, मोहांव, होते हुए चोलापुर में स्थित शहीद स्मारक पर माल्यार्पण किया गया एवं अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। स्थानीय विधायक अजय राय, प्रजानाथ शर्मा, बैजनाथ सिंह, सतीश चौबे इस मौके पर मौजूद रहे। यहां से यात्रा घरसौना, डानगंज होते हुए वाराणसी पहुंची, इसके उपरान्त बरइच, चण्डवक, खुची मोड़ होते हुए जौनपुर सीमा पर जगह-जगह हजारों की संख्या में कांग्रेस जनेां एवं स्थानीय जनता ने यात्रा का भव्य स्वागत किया। आजमगढ़ बार्डर से कंजही, देवगांव, लालगंज , मोहम्मदपुर, बिन्द्रा बाजार, कोटिला, रानी की सराय, नरौली, होते हुए यात्रा के आजमगढ़ के मेहता पार्क में पहुंचने पर विशाल जनसभा हुई। रास्ते में उक्त सभी स्थानों पर हजारों की संख्या में कांग्रेस जनों एवं स्थानीय जनता द्वारा फूल मालाओं से यात्रियों का जबर्दस्त स्वागत किया गया।


मेहता पार्क में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए उ.प्र. की मुख्यमंत्री पद की प्रत्याशी श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि पूरा उ.प्र. बेहाल हो चुका है। पिछले 27 सालों में उ.प्र. में विकास का पहिया थम गया है। प्रदेश की गैर कांग्रेसी सरकारों ने जाति और धर्म के नाम पर समाज को सिर्फ बांटने का काम किया। बेरोजगारी और कानून व्यवस्था प्रदेश की सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है। इसमें अमूलचूल बदलाव की जरूरत है। यदि कांग्रेस की सरकार अब नहीं आयी तो प्रदेश विनाश के गर्त में चला जायेगा। इसलिए प्रदेश के हित में आप सभी कांग्रेस के लिए संघर्ष करें, ताकि कांग्रेस की सरकार आ सके। आज उप्र विकास में सर्वाधिक पिछड़ेपन का प्रतीक बन गया है।


डॉ. संजय सिंह ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव का संसदीय क्षेत्र है और बेहाल है। उन्होने कहा कि जिस तरह अपराधिकयों का पश्चिमी उ.प्र. में किडनैपिंग मुख्य व्यवसाय है वही हाल अब यहां करने वाले हैं। जहां आजमगढ़ अच्छे लोगों के नाते जाना जाता था वहां पर अब यह चोर उचक्कों के नाते जनाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने कहा कि आप सभी को कानून व्यवस्था, विकास के लिए कांग्रेस की सरकार बनानी होगी।


डा. संतोष सिंह ने कहा कि आजमगढ़ अल्लामा शिबली नोमानी एवं महापंडित राहुल सांकृत्यायन की धरती है। यहां अपराधियों को कतई पनाह नहीं दी जा सकती। गलती से मुलायम सिंह यादव यहां से सांसद हो गये, अब जनता चेत चुकी है और आने वाले दिनों में करारा जवाब देगी। उन्होने कहा कि सन 1978 में जब पूरे देश में कांग्रेस हार गयी थी तो आजमगढ़ से ही कांग्रेस की लहर चली थी और 1980 तक पूरे देश में कांग्रेस पुनः सत्ता में आ गयी थी। उसी तरह इस विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस की आजमगढ़ से विजय की बयार बहेगी।


पूर्व सांसद जफर अली नकवी ने कहा कि खुद को मुसलमानों को सबसे हितैषी बताने वाली समाजवादी पार्टी की कलई उप्र में खुल गयी है। प्रदेश के मुस्लिम वर्ग में समाजवादी पार्टी के प्रति व्यापक असंतोष व्याप्त है।


वरिष्ठ उपाध्यक्ष भगवती प्रसाद चौधरी ने कहा कि जबसे प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी है तब से दलितों की जमीनों पर कब्जे होने शुरू हुए और लगातार जारी है। उप्र में सबसे ज्यादा उत्पीड़न दलितों का हो रहा है। कांग्रेस पार्टी ने दलितों को सबसे अधिक सम्मान दिया है और जो भी दलितों के लिए उत्थान के कार्य हुए हैं वह सभी कांग्रेस की देन है।


congress-raj


दूसरी यात्रा नंबर 2 अपने रूट के तहत जनपद वाराणसी(बावतपुर एयरपोर्ट) से शुरू होकर नेवादा, नेहियां जहां दोनों स्थानों पर स्वागत किया गया। स्थानीय विधायक अजय राय साथ रहे। इसके उपरान्त यात्रा बलही पट्टी, मोहांव होते हुए चोलापुर पहुंची एवं शहीद स्तम्भ पर माल्यार्पण किया गया एवं श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इसके उपरान्त चौबेपुर होते हुए जनपद गाजीपुर में प्रवेश किया। जनपद गाजीपुर में रास्ते में हजारेां की संख्या में कांग्रेस जनों एवं स्थानीय जनता ने सिधौना सहित सैदपुर, देवकली होते हुए नन्दगंज पहुंचने पर स्वागत किया गया। इसके पश्चात महराजगंज होते हुए लंका पहुंची एवं अम्बेडकर पार्क में मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया। यात्रा इसके उपरान्त लंका मैरिज हाल में पहुंचकर विशाल जनसभा में परिवर्तित हुई एवं जनसभा के उपरान्त यात्रा वाराणसी के लिए वापस हुई। स्थान-स्थान पर यात्रा का हजारों कांग्रेसजनों ने स्वागत किया एवं जनसभा को वरिष्ठ नेताओं ने सम्बोधित किया।


जनपद गाजीपुर के लंका मैरिज हाल में आयोजित विशाल मजनसभा में मौजूद हजारों की संख्या में कांग्रेस जनों एवं स्थानीय जनता को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि कहा कि कांग्रेस पार्टी जोड़ने में विश्वास करती हैं। उन्होने कहा कि यह जनपद वीर अब्दुल हमीद का जनपद है। नरेन्द्र मोदी को हिन्दुस्तान में तालियां जब मिलनी बंद हो गयी तो वह विदेशों में तालियां बजवाने जाने लगे। उन्होने कहा कि आज मंहगाई चरम पर है। गैर कांग्रेसी दल धर्म और जाति के नाम पर समाज को तोड़ते जा रहे हैं आज हम सभी कांग्रेस जन राहुल जी के नेतृत्व में प्रदेश को जोड़ने के लिए निकले हैं। प्रदेश का विकास कांग्रेस के बिना संभव नहीं है। जबसे प्रदेश से कांग्रेस गयी है बुनकर बेहाल हो गया है रोजी रोटी बंद के कगार पर है 27 सालों में गैर कांग्रेसी दलों ने केवल लूटा है। उन्होने कहा कि गैर कांग्रेसी सरकारों ने किसी ने धर्म के नाम पर और किसी ने जाति के नाम पर सिर्फ प्रदेश की जनता को ठगने का काम किया है। श्री बब्बर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी विकास में विश्वास रखती है। सोनिया जी और राहुल जी के नेतृत्व में हम सभी को मिलकर भाजपा, बसपा और सपा के कुशासन से ऊब चुकी उप्र की जनता को निजात दिलाना है और उत्तर प्रदेश में शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री बनाना है।


जनसभा को सम्बोधित करते हुए सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि विगत 27 सालों में गैर कांग्रेसी सरकारों भाजपा, बसपा और सपा की कई बार सरकार उत्तर प्रदेश में बनी और उत्तर प्रदेश जोे ऊपर से चौथे स्थान पर था आज नीचे से चौथे स्थान पर पहुंच गया है। उन्होने कहा कि कांग्रेस ने नन्दगंज में चीनी मिल लगवाई, वह इन गैर कांग्रेसी दलों की सरकारों ने बंद करवा दी। नरेन्द्र मोदी ने पूरे देश में सिर्फ शिगूफा दिया है।


अनु.जाति आयोग के चेयरमैन पी. एल. पुनिया ने सम्बोधित करते हुए कहा कि देश में सर्वाधिक दलितों के साथ उत्पीड़न की घटनाएं उ.प्र. में हो रही हैं। उन्होने कहा कि चाहे दलितों की जमीनों पर कब्जा हो, महिलाओं का उत्पीड़न हो, हत्या, लूट और जघन्य घटनाएं उ.प्र. में रिकार्ड बना रही हैं।


पूर्व सांसद राजाराम पाल ने कहा कि पिछड़ों की सरकार का ढिंढोरा पीटने वाली समाजवादी पार्टी सरकार में सर्वाधिक उत्पीड़न पिछड़ों का हुआ है। सिर्फ एक जाति विशेष को लाभ पहुंचाने वाली समाजवादी पार्टी के प्रति प्रदेश के पिछड़े वर्ग में असंतोष व्याप्त है और वह कांग्रेस की ओर देख रहा है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top