Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पानी बचाने दिल्ली कूच की तैयारी 

 Sabahat Vijeta |  2016-04-15 16:45:55.0

waterलखनऊ, 15 अप्रैल. भीषण पानी के संकट के जूझ रहे बुंदेलखंड सहित उत्तर प्रदेश के हजारों गांवों के लोग जल सुरक्षा का मांग को लेकर अब दिल्ली कूच करने की तैयारी में हैं।
जल संचयन छांचों को सुधारने और जल संरक्षा अधिनियम लाने की मांग को लेकर आंदोलतरत देश के 130 जन संगठनों की अगुवाई में लोग दिल्ली में पांच मई को जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर केंद्र व संसंबधित राज्य सरकारों से इस मामले में प्रभावी कदम उठाने की मांग करेंगे। उक्त आंदोलन का निर्णय जल पुरुष राजेंद्र सिंह व एकता परिषद के संस्थापक पीवी राजगोपाल के द्वारा आहूत एक पंचायत में लिया गया है।


बुंदेलखंड में पानी के संकट को दूर करने के काम में लगे समाजसेवी व परमार्थ संस्था के संजय सिंह के मुताबिक देश के 11 राज्य इस समय सूखे की जबरदस्त चपेट में हैं। हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि बुंदेलखंड में पानी का कर्फ्यू लागू करने की नौबत आ गयी है। उनका कहना है कि मौसम विभाग ने आने वाले सीजन में 106 फीसदी बारिश का अनुमान तो लगाया है पर शहरों, गांवों और अन्य स्थानों में मौजूद चल संचयन ढांचों की हालात इस तरह की नही है जिससे वहां पर्याप्त पानी एकत्र किया जा सके।


सिंह बताते हैं कि देश के 130 जन संगठनों ने एक अपील जारी कर गांवों व शहरों के लोगों से कहा है कि अप्रैल माह से ही जल संचयन ढांचों को गाद व कचरा से मुक्ति के काम में जुट जाए और हर हाल में 15 जून इनकी मरम्मत का काम पूरा कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि अपील की गयी है कि पंचायतें सामुदायिक जल संचयन ढांचों को दुरुस्त करने का जिम्मा अपने हाथों में लें।


सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री से अपील की गयी है कि वे इस काम को अपने स्तर पर जल संचयन संकल्प आंदोलन के रुप में घोषित करें। संजय सिंह का कहना है कि अगर इस काम में प्रशासनिक अमला विफल रहता है तो बुंदेलखंड सहित उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों व देश के कई हिस्सों को लोग पांच मई को जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर जल संरक्षा अधिनियम तुरंत लागू किए जाने का मांग को जोर शोर से उठाएंगे।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top