Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अखिलेश यादव को CM कैंडिडेट नहीं बनाना होगी सबसे बड़ी गलती: रामगोपाल यादव

 Abhishek Tripathi |  2016-10-16 02:52:20.0

ramgopal_akhileshतहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) में छिड़ा गृहयुद्ध शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। बीते शुक्रवार को सपा सप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि 'यूपी चुनाव के बाद सीएम कैंडिडेट पर फैसला पार्लियामेंट्री बोर्ड लेगा।' मुलायम के इस बयान के बाद सपा के महासचिव और सांसद रामगोपाल यादव ने कहा 'यदि अखिलेश यादव को सीएम पद का उम्मीदवार नहीं बनाया तो बहुत बड़ी गलती हो जाएगी।' पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं के अलग-अलग बयान से सियासी गलियारे में चर्चाएं बढ़ गई हैं।


देश के सबसे बड़े राजनीतिक घराने में सबकुछ ठीक नहीं है, ये बात खुलकर एक बार सभी के सामने आ गई है। पार्टी के दो बड़े नेता अलग-अलग बयान दे रहे हैं। यूपी चुनाव में अब कुछ ही महीने बचे हैं। ऐसे में विरोधी पार्टियां भी नजरें गड़ाए बैठी हैं कि सपा से सीएम कैंडिडेट को लेकर आखिर क्या फैसला लिया जा सकता है। वहीं, एक बात तो तय हो गई है कि सीएम अखिलेश यादव को अब रामगोपाल यादव का साथ मिल चुका है।


मैने बनाया था अखिलेश को सीएम
मुलायम सिंह यादव ने यह भी बयान दिया है कि उन्होंने ही अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाया है। मुलायम सिंह ने कहा है कि पिछले चुनाव में लोगों ने उनके लिए वोट दिया था, लेकिन उन्होंने अपने बेटे अखिलेश को सीएम बनाने का फैसला किया। इससे साफ है कि अखिलेश के 'बागी' बयान को पिता मुलायम सिंह ने गंभीरता से लिया है और यह भी जता दिया है कि यदि वे इसी रास्ते पर चलें तो आगे की डगर मुश्किल हो सकती है।


5 नवंबर तक बड़ा फैसला ले सकते हैं अखिलेश
मुलायम के बयान के बाद से ही चर्चा हो रही है कि जल्द ही सीएम अखिलेश कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। सूत्रों से पता चला है कि 5 नवंबर से पहले सीएम अखिलेश कोई ऐसा कदम उठा सकते हैं जिससे यूपी की राजनीति में भूचाल आ सकता है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top