Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

लोकतंत्र से खिलवाड़ न करे राजभवन  

 Sabahat Vijeta |  2016-04-12 17:21:09.0


  • आजम खां ने राजभवन पर फिर बोला हमला


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


azam-khanकन्नौज, 12 अप्रैल. सुगंध के शहर कन्नौज में परफ्यूम म्यूजियम और परफ्यूम पार्क की आधारशिला रखे जाने के बाद यूपी सरकार के कद्दावर मंत्री मोहम्मद आज़म खां अपने चिर-परिचित अंदाज़ में नज़र आये. हमेशा की तरह विपक्ष आज भी उनके निशाने पर था लेकिन बक्शा उन्होंने प्रधानमन्त्री और राजभवन को भी नहीं.


हाल में विधानसभा कार्यवाही की सीडी देखने के बाद राज्यपाल ने जिस तरह से आज़म खां के खिलाफ सख्त रुख अपनाया था उससे बिलकुल बेपरवाह आज़म खां ने कन्नौज में कहा कि राजभवन को लोकतन्त्र से खिलवाड़ का कोई हक़ नहीं है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ डिम्पल यादव के संसदीय क्षेत्र में पहुंचे आज़म खां ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार तो नहीं दे पाए, लेकिन लोगों के हाथों में झाडू जरूर पकड़ा दी.


आज़म खां ने आज इशारों में नहीं सीधे-सीधे नाम ले लेकर निशाने साधे. बोले आजकल राजभवन उनसे बहुत नाराज है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग फिजाओं को खराब करना चाहते हैं. लोगों के चेहरों से खुशहाली छीन लेना चाहते हैं. वह कभी लव जेहाद, कभी घर वापसी तो कभी मेरी बर्खास्तगी की मांग के नारे लगाते हैं. इससे लोगों का दिल दुखता है.


आज़म खां ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह तो दुश्मन को माकूल जवाब देने की बात करते थे लेकिन उसी की चौखट पर माथा टेकने चले गए. अपनी माँ का तो पता नहीं लेकिन नवाज़ शरीफ की मां के पैरों पर गिर गए. यह एक ढोंग है. अनर्थ है. एक झूठ है. उन्हें अपनी पत्नी से पूछना चाहिए जो थ्री व्हीलर में बैठकर अपने घर का पता पूछ रही हैं.


आज़म खां ने जानना चाहा कि राजभवन से उनकी बर्खास्तगी की मांग हो रही है, तो यह भी बताया जाए कि उनका गुनाह क्या है. उन्होंने कहा कि एक कानून डेढ़ साल से राजभवन में राज्यपाल के हस्ताक्षर को पड़ा है, लेकिन उस पर हस्ताक्षर नहीं किए गए.


उन्होंने कहा कि उनसे पाकिस्तान जाने को कहा जा रहा है. मुसलमानों की तरफ इशारा करते हुए आज़म ने कहा कि उनका दर्द महसूस करो. उन्होंने जो झेला, जो सहा, उसे महसूस करो. समाजवादी पार्टी का साथ दो. उन्होंने कहा कि मुसलमान देश की हिफाजत करेगा लेकिन उस पर भरोसा तो करो. आज़म ने आगाह किया कि अगर यह सरकार चली गई तो हर तरफ पत्थरों के हाथी-हथनियां नज़र आयेंगी. प्रधानमंत्री पर ज़बरदस्त हमला करते हुए आज़म खां ने कहा कि वह तांगा तो बांट रहे हैं, लेकिन घोड़ा नहीं. बीवी को घर से निकाल दिया. बेटी क्या है वह क्या जानें. रोजगार देने का दावा करते हैं लेकिन उन्होंने हाथों में झाडू जरूर पकड़ा दी है.


आज़म सीधे तौर पर मुसलमानों से मुखातिब होते हुए बोले कि वह छोटी-छोटी बातों पर नाराज न हों. वह यह समझें कि दंगों से भला नहीं होने वाला. मंदिर - मस्जिद झगड़ा नहीं कराते. यह तो इबादत के लिए हैं.


आज उन्होंने मीडिया को भी नहीं बक्शा बोले कि मुजफ्फनगर कांड पर हत्याएं दिखाईं लेकिन हत्यारे नहीं दिखाए. बलात्कार दिखाए लेकिन बलात्कारी नहीं दिखाए. घर जलते हुए दिखाए जलाने वाले नहीं दिखाए. मीडिया हमारा भी तो सच दिखाए. कहा कि मुजफ्फनगर कांड में अगर कोई एजेंसी उन्हें दोषी साबित कर दे तो वह कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं. राज्यपाल रामनाइक की बात करते हुए आज़म खां ने कहा कि जब अयोध्या का मामला अदालत में है तो फिर वह मंदिर बनावाने की बात क्यों कहते हैं.


कन्नौज के लोगों से आज़म ने कहा कि अगर आपस में लड़े तो सरकार चली जाएगी. जो सरकार आएगी वह रोने का मौका भी नहीं देगी. उन्होंने कहा कि उनका सपा और कन्नौज से खून का रिश्ता है.

  Similar Posts

Share it
Top