Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

BJP का नया PK, RS ने बनाई असम जीत की Social Media स्ट्रेटेजी

 Anurag Tiwari |  2016-05-19 14:34:07.0

rajat sethi from kanpur

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. आखिरकार वह चेहरा भी सामने आ ही गया जिसने असम विधान सभा चुनावों में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत दिलाई। यह शख्स कभी इंडिया के पहले सोशल मीडिया और इलेक्शन कैंपेन स्ट्रेटेजिस्ट माने जाने वाले प्रशांत किशोर की टीम में था। यही नहीं इन्होने यूएसए प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में हिलेरी क्लिंटन की कैंपेन टीम में भी काम किया है।

कानपुर के रहने वाले हैं रजत सेठी
कानपुर के रहने वाले रजत सेठी ने आईआईटी खड़गपुर से इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं। इसके बाद इन्होने अपनी आगे की पढाई यूएसए के हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से की। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से इन्होने पब्लिक पॉलिसी में ग्रेजुएशन किया। न केवल उनका परिवार संघ का करीबी है, बल्कि बीजेपी के सीनियर नेता राम माधव उन्हें पर्सनल तौर पर काफी पसंद भी करते हैं। राम माधव ही ने रजत को बीजेपी से जोड़ा और बाद में असम में उन्हें इलेक्शन कैंपेन की जिम्मेदारी सौंपी गई।


PK के टीम में थे कभी RS और साथी  

रजत सेठी , साल 2014 में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी को ऐतिहासिक जीता दिलाने की रणनीति का हिसा बनाने वाले प्रशंद किशोर की टीम की हिस्सा रहे हैं। जीत के बाद अमित शाह में टकराव के चलते प्रशांत किशोर ने नीतिश कुमार का दामन थाम और उन्हें बिहार विधान सभा चुनावों में एक बार फिर ऐतिहासिक जीत दिलाई। इसी बीच बीजेपी को कई राज्यों में हुए चुनावों में शिकस्त का सामना करना पड़ा। इसी बीच राम माधव ने बीजेपी लीडरशिप को रजत सेठी का नाम सुझाया। फिओर क्या थे रजत सेठी के साथ उनके साथी शुभ्रास्था, आशीष सोगानी, महेंद्र शुक्ला और आशीष मिश्रा बीजेपी से जुड़ गए। शुभ्रास्था भी पहले प्रशांत किशोर की टीम की मेम्बर रह चुकी हैं।

rajatsethi

नहीं मानते अपने को PK का प्रतिद्वंदी
रजत खुद को प्रशांत किशोर का प्रतिद्वंद्वी नहीं मानते हैं। उनका कहना है कि प्रशांत से उनकी तुलना फिजूल की बात है। वह बीजेपी के सिद्धांतों से से पहले जुड़े हुए हैं, उनके परिवार का संघ से काफी पुराना नाता है। उन्होंने बताया कि वे काफी बाद प्रफेशनल तौर पर बीजेपी से जुड़े चुके हैं।

पिछले छह महीने से कर जमे थे असम में
वर्ल्ड सरीखे की नौकरी छोड़कर इलेक्शन स्ट्रेटेजिस्ट बने रजत अपनी 20 प्रोफेशनल्स की टीम लेकर पिछले छह महीने से असम में डटे हुए थे है। इस टीम ने जो सोशल मीडिया, मीडिया और इलेक्शन के लिए एड कैम्पेन तैयार करते रहे। रजत की ही तरह उनकी टीम के मेंबर्स भी आईआईटी से इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं।

यूपी के ही महेंद्र सिंह ने सम्हाली पॉलिटिकल कमान
रजत के साथ यूपी बीजेपी के नेता महेंद्र सिंह ने असम में बीजेपी संगठन को मजबूत बनाने में कड़ी मेहनत की है। महेंद्र सिंह यूपी के प्रतापगढ़ जिले के रहने वाले हैं. लेकिन उनकी सियासी गतिविधि ज्यादातर समय लखनऊ में ही होती रही है। बीते डेढ़ सालों से वे कड़ी मेहनत कर असम में बीजेपी के संगठन को देशभर में बीजेपी संगठन के अनुसार मॉडल बना दिया है। महेंद्र सिंह के ही लीडरशिप में असम में बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता 30 लाख से ऊपर पहुंच गई।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top