Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बंद कमरे में राहुल ने की महंत ज्ञानदास से मुलाकात

 Girish Tiwari |  2016-09-09 08:16:10.0

rahul


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
अयोध्‍या:  उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को दोबारा खड़ा करने के अभियान पर निकले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को अयोध्या पहुंचकर हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजन किया। इसके बाद राहुल ने महंत ज्ञानदास से आधे घंटे तक मुलाकात की और फिर अपने रोड शो के लिए निकल गए। किसान संदेश यात्रा पर निकले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को अयोध्या के हनुमानगढ़ी में दर्शन करने पहुंचे। राहुल के पहुंचने से पहले ही आम जनता के लिए हनुमानगढ़ी के दरवाजे बंद कर दिए गए थे। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए आसपास की दुकानें भी बंद करवा दी गई थीं।


हनुमानलला के दर्शन के बाद राहुल गांधी ने महंत ज्ञानदास से बंद कमरे में मुलाकात की। इसके बाद हनुमानगढ़ी के दर्शन कर राहुल गांधी सर्किट हाउस लौटे गए। महंत ज्ञानदास ने बताया कि राहुल से राम मंदिर के सुलह समझौते को लेकर कोई बातचीत नहीं की गई, क्योंकि यह पक्षकारों के आपस का मामला है, लेकिन राहुल गांधी ने भरोसा दिया है कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा, कांग्रेस उसके साथ खड़ी रहेगी।


राहुल गांधी बृहस्पतिवार देर रात फैजाबाद पहुंचे थे। हालांकि, विवादित परिसर रामलला का दर्शन करने का उनका कोई कार्यक्रम नहीं है। वहीं फैजाबाद पहुंचने पर राहुल गांधी का कांग्रेसियों ने स्वागत किया।


अयोध्या को हिंदुत्व एजेंडे वाली राजनीति का गढ़ कहा जा सकता है और यहां भी राहुल गांधी अपनी यात्रा की शुरुआत हनुमान गढ़ी मंदिर से की है। तो वहीं इस यात्रा के पीछे भी प्रशांत किशोर की चुनावी रणनीति बताई जा रही है। उन्होंने ही कांग्रेस को हिंदू वोटों को बटोरने का यह तरीका बताया है। बीजेपी ने भी इसी के तरह हिंदुत्व को बढ़ावा देकर चुनाव में फतह की थी। देखना अब यह दिल्चस्प होगा कि कांग्रेस की यह रणनीति 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में कितनी कारगर साबित होती है।


पूरा किया राजीव गांधी का सपना

बता दें कि करीब ढाई दशक से गांधी परिवार का कोई व्यक्ति अयोध्या नहीं गया है। राहुल की इस यात्रा को लेकर राजनीतिक गलियारों में काफी चर्चा है। स्थानीय नेताओं के मुताबिक 1990 में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी अयोध्या गए थे।


यूपी में अपनी यात्रा के चौथे दिन राहुल गांधी अयोध्‍या पहुंचे, यहां राहुल ने सबसे पहले प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा अर्चना की है। 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब गांधी परिवार से कोई इस नगरी में पहुंचा हुआ है। बता दें कि राजीव गांधी 26 साल पहले अयोध्या के दौरे पर आए थे।


बताते चले कि राहुल गांधी ने अपने पिता राजीव गांधी की 26 साल पुरानी अधूरी इच्छा को भी पूरा किया। दरअसल, राजीव गांधी 1990 में अयोध्या गए थे, लेकिन व्यस्तता के चलते हनुमान गढ़ी के दर्शन नहीं कर पाए थे। उसके अगले ही साल यानी 1991 में उनकी हत्या हो कर दी गई थी। हालांकि 1992 में सोनिया गांधी ने हनुमान गढ़ी जाकर पूजा अर्चना की थी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top