Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PHOTOS: वाराणसी जिला जेल में फायरिंग, डिप्टी जेलर BHU ट्रॉमा में भर्ती

 Tahlka News |  2016-04-02 06:49:34.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
वाराणसी, 2 अप्रैल. वाराणसी जिला जेल में आज सुबह बंदियों की परेड के दौरान बंदी रक्षकों द्वारा एक बंदी राजकिशोर को पीटे जाने से हालात बिगड गए। आक्रोशित बंदियों और बंदी रक्षकों में हुई झडप के बीच डिप्टी जेलर अजय राय का सिर फोडकर बंदियों ने घायल कर दिया। साथ ही जेल अधीक्षक आशीष तिवारी को बैरक नंबर 12 व 13 में ले जाकर बंधक बना लिया। इस बीच बंदियों और जेल व जिला पुलिस प्रशासन के बीच जमकर पथराव हुआ और पुलिस को करीब दस राउंड हवाई फायर भी करना पडा। चूंकि बंदियों ने जेल अधीक्षक को बंधक बना लिया था इसलिए जिला प्रशासन लाचार हो गया। जेल पहुंचे डीएम से बंदियों ने वार्ता से इन्कार कर दिया।


बंदियों की ओर से मांग की गई कि सपा के जिलाध्यक्ष सतीश फौजी और महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल को बुलाया जाए। चूंकि फौजी लखनउ गए थे तो राजकुमार जायसवाल से बंदियों ने वार्ता की। उनकी मांग थी कि जेल में खाना खराब दिया जा रहा है उसे दुरुस्त किया जाए, बंदियों को आएदिन पीटा जाता है और थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किया जाता है, वह भी बंद हो। सक्षम बंदियों का आर्थिक दोहन बंद हो। आज के हंगामे को लेकर किसी तरह की उत्पीडन की कार्रवाई न हो। इन सारी मांगों को मानने का आश्वासन दिए जाने के बाद भी बंदियों ने जेल अधीक्षक को नहीं छोडा।

a2


एनडीआरएफ दस्ते का जिला जेल में प्रवेश
वाराणसी जेल में बवाल के बाद हालात ज्यों के त्यों है। जेल अधीक्षक आशीष तिवारी को बंधक बनाकर बंदियों ने बैरक को भीतर से बंद कर लिया है। जेल में फिलहाल 1800 बंदी हैं और बैरक नंबर 12 व 13 में तकरीबन 150 बंदियों ने जेल अधीक्षक को बंदी बनाकर हंगामा जारी रखा है। अब प्रशासन ने मेटल कटर मंगाया है ताकि बैरक का दरवाजा काटकर भीतर घुसा जा सके। फिलहाल जेल में यथास्थिति बनी है। जिलाधिकारी ने बंधक जैसी स्थिति से इन्कार किया है लेकिन अतिरिक्त फोर्स बुला लिया है।

सपा के हंगामे से जुड़ रहे तार
वाराणसी में पिछले नौ दिनों तक राज्यमंत्री सुरेंद्र पटेल के खिलाफ सपाइयों द्वारा किए गए धरना प्रदर्शन और उनकी हिस्ट्रीशीटर सपाई नागा यादव से चल रही रार को जेल के बवाल से जोड के देखा जा रहा है। नागा यादव की गिरफतारी तीन दिन पूर्व हुई थी। शुक्रवार को ही उसकी जमानत मंजूर हुई थी शनिवार को नागा को रिहा होना था। कहा जा रहा है कि जेल का बवाल सपा की कारस्तानी है। यही वजह है कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि बंदियों के बवाल में सत्तापक्ष के राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को बंदियों ने वार्ता के लिए बुलाया है।

a3


बवाल की जड़ में नागा यादव
आज सुबह वाराणसी जिला जेल में नागा यादव की किसी बात पर जेलर से हाथापाई हो गयी थी। इसके बाद जेल में बंदियों ने हंगामा कर दिया। बंदियों को काबू करने के लिए पुलिस ने कई राउंड हवाई फायरिंग की। इस दौरान बंदियों व पुलिसकर्मियों में मारपीट हुई। मौके पर एडीएम सिटी, एसपी सिटी और कई थानों की पुलिस फ़ोर्स मौजूद है जबकि माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। मारपीट के दौरान डिप्टी जेलर अजय कुमार को गंभीर चोट लगने के बाद दीनदयाल अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज चल रहा है। वहीं जेल से सूचना यह भी है कि जेल अधीक्षक आशीष तिवारी व जेलर विजय कुमार राय कैदियों के कब्जे में हैं। जबकि बैरक संख्या १२ और १३में कई अधिकारियों को कैदियों ने बंधक बना लिया है।

a1कैदी करना चाह रहे मीडिया से बात
घायल डिप्टी जेलर को खून की उल्टी होन के बाद हंगामा किए जाने के बाद डॉक्टर मौके पर इलाज के लिए पहुंचे। वहीं दूसरी ओर जेल में हंगामा कर रहे कैदी लगातार नारेबाजी कर रहे हैं और मीडिया से बात करना चाह रहे हैं और बैरक की छतों पर जमे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर महिला जेल की बाउंड्री फांद कर कुछ बंदियों की महिला कैदियों से दुर्व्यवहार की भी सूचना है।

a4घंटों जेल कैदियों के कब्जे में

जेल में प्रदर्शन करने वाले कैदियों ने मीडिया से कहा कि उन्हें खाना बेहद घटिया दिया जाता है। उन्हें जेल की प्राइवेट कैंटीन से महंगा भोजन करने का दबाव बनाया जाता है। कैदी अब जेल के भीतर से ही अधिकारी के मोबाइल पर मिडिया से अपनी बात कह रहे है। जेल में लगातार थर्ड डिग्री का इस्तेमाल बंदियों पर किया जाता है! अजय यादव नामक बंदी को अधिक पीटे जाने की बात बंदी कह रहे हैं। वहीं बंदियों ने जेल अधीक्षक आशीष तिवारी को बंधक बनाने की बात कुबूली है मगर किस बैरक में वो हैं यह कैदी नहीं बता रहे हैं। घंटों तक जेल कैदियों के कब्जे में रही तो बैरकों की ओर फोर्स नहीं बढ पा रही थी।

a7जेल में बंदियों से वार्ता का प्रयास
मारपीट के दौरान गंभीर रूप से घायल डिप्टी जेलर को बीएचयू ट्रामा सेंटर भेजा गया है। वहीं दूसरी सपा महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल से बैरक संख्या 12-13 के पास जेल अधीक्षक को बंधक बनाए बंदियों ने वार्ता भी की। बंदियों की मांग है कि उन्हें आज के बवाल के लिए प्रताडित न किया जाए, किसी तरह का मुकदमा अलग से न दर्ज किया जाए, जेल में खाने की व्यवस्था दुरुस्त हो, बंदियों पर समय समय पर होने वाले थर्ड डिग्री का इस्तेमाल बंद हों, बंदियों का आर्थिक दोहन न किया जाए। बंदियों ने एक सादे पेज पर टूटी फूटी हिंदी में अपना मांग पत्र भी प्रशासन को सौंपा है।

 

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top