Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गरीब बच्चों को न पढ़ाने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्यवाही हो

 Sabahat Vijeta |  2016-08-28 18:29:55.0

dr sandeep pandey


लखनऊ. सामाजिक कार्यकर्त्ता संदीप पाण्डेय ने लखनऊ के जिला मजिस्ट्रेट सत्येन्द्र सिंह को पत्र लिखकर उन विद्यालयों के खिलाफ कार्यवाही करने को कहा है जो शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 की धारा 12 (1) ग के तहत दुर्बल आय वर्ग के बच्चों को अपने स्कूल में दाखिला देने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने शहर के कुछ विद्यालय, जैसे सिटी मांटेसरी स्कूल, नवयुग रेडियंस व सिटी इण्टरनेशनल का नाम लिया है. यह स्कूल बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा दिए गए अलाभित समूह व दुर्बल वर्ग के बच्चों के दाखिले के आदेश को मानने को तैयार नहीं हैं.


इस संबंध में अगस्त 2016 के पहले सप्ताह में भी लखनऊ के जिलाधिकारी को एक ज्ञापन दिया गया था. इस ज्ञापन को मिलने के बाद जिलाधिकारी ने निजी विद्यालयों को अधिनियम के अनुपालन हेतु दो दिनों कर समय दिया था. यह अवधि कब की बीत चुकी है किंत आज तक दाखिल नहीं हुए.


उन्होंने लिखा है कि समय बीता जा रहा है और बच्चों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है. माता-पिता अशंकित हैं कि दाखिला होगा भी कि नहीं. कृपया इन विद्यालयों की मान्यता रद्द करवाने की दिशा में इनको दिया अनापत्ति प्रमाण पत्र वापस लेने की कार्यवाही शुरु करें ताकि ये बच्चों को दाखिला देने के लिए बाध्य हों.


उन्होंने लिखा है कि सिटी मांटेसरी, नवयुग रेडियंस, सिटी इण्टरनेशनल, आदि निजी विद्यालयों के खिलाफ यह भी शिकायत है कि ये मान्यता की शर्तें भी पूरी नहीं करते हैं. कृपया इन विद्यालयों की मान्यता की शर्तों, जैसे निर्माण हेतु लखनऊ विकास प्राधिकरण की अनुमति, खेल का मैदान, अग्नि शमन विभाग का अनापत्ति प्रमाण पत्र, पार्किंग की जगह, किसी प्राकृतिक विपदा की स्थिति में स्कूल से बच्चों के बाहर निकलने हेतु दिशा-निर्देश, आदि, की भी जांच कराई जाए.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top