Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

काव्य सरिता में आधी रात तक झूमता रहा गोमती उत्सव

 Sabahat Vijeta |  2016-11-20 17:22:28.0

gomti-utsav


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. तीन दिवसीय गोमती उत्सव आज आखिल भारतीय कवि सम्मेलन के साथ खत्म हो गया. इससे पूर्व स्वाती साहू के नृत्य ग्रुप ने भारतीय शास्त्रीय नृत्य की विभिन्न शैलियों का नृत्य प्रस्तुत किया साथ ही सुल्तानपुर से आये शीतला एवं साथियों ने फरवाही नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को हतप्रभ कर दिया. सर्च फाउण्डेशन द्वारा आयोजित नयाब नगीने में आयोजित 16 बच्चों ने अपनी प्रतिभा दिखाई. राष्ट्रगान और गोमती रक्षा की शपथ के साथ शुरू हुये मुख्य समारोह में विभिन्न विभूतियों को गोमती गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया. सम्मानित विभूतियों में लखनऊ के पूर्व जिलाधिकारी राजशेखर सहित पखावज वादक पंडित राजखुशी राम, पूर्व डीजीपी रिज़वान अहमद, सीओ गोमती नगर एसएस यादव, गंजिग कार्निवाल के लिए निधि श्रीवास्तव, डॉ. संजय यादव, वासिक वारसी, हबीबुल हसन, 1090 अजय मिश्रा, प्राचार्य संस्कृत विद्यापीठ गोमती नगर जनकल्याण समिति के एके सिंह, किसान नेता हरनाम सिंह वर्मा एवं युवा नृत्य गुरू विभू बाजपेई सम्मिलित थे.


आज के मुख्य आकर्षण में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन रहा. लोग देर रात तक कविताओं में झूमते और ताली बजाते रहे.


आमंत्रित कवियों मे विनीत चौहान (अलवर) तेज नारायण बेचैन (मुरैना), डॉ. सरुश अवस्थी (कानपुर), आलोक श्रीवास्तव (दिल्ली), शशिकान्त यादव (देवास), डॉ. सरिता शर्मा (दिल्ली), डॉ. सोनरूपा विशाल (दिल्ली), तुषा शर्मा (मेरठ) के अतिरिक्त अजय प्रधान (बाराबंकी) पंकज प्रसून विनोद विख्यात (लखनऊ) ने काव्य पाठ किया.


सर्वेश अस्थाना के संयोजन व शशिकान्त यादव के संचालन में श्रोता हास्य, वीर रस व श्रंगार में गोते लगाते रहे. अतिथियों का सम्मान सर्वेश अस्थाना, रामकृष्ण यादव, राजीव मिश्र व अनिल टेकड़ी वाल आदित्य द्विवेदी, समीर शेख, राहुल अवस्थी, पवन सिंह व हर्षवर्धन अग्रवाल ने किया.


सोनरूपा ने मां की वृहद छवि का वर्णन करते हुये सुनाया शाम सी नम रातों सी भीनी भोर सी है उजियारी माँ मुझमें बस थोड़ी सी मैं हूं मुझमे बाकी सारी माँ दिल्ली के आलोक श्रीवस्तवा ने भी माँ पर कविता का पाठ किया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top