Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पीएम को अपनी माँ की चिंता नहीं तीन तलाक़ की बात करते हैं

 Sabahat Vijeta |  2016-12-18 15:43:10.0

mahila-congres-2


लखनऊ. उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस का प्रादेशिक महिला सम्मेलन ‘‘संकल्प’’ का आयोजन आज महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती प्रतिमा सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ, जिसकी मुख्य अतिथि महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा रहीं. सम्मेलन में अतिविशिष्ट अतिथि के रूप में दिल्ली प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित, सांसद पी.एल. पुनिया, पूर्व सांसद श्रीमती अन्नू टण्डन उपस्थित रहीं. इसके अलावा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सचिव-सहप्रभारी उ.प्र. श्रीमती विजयलक्ष्मी साधो पूर्व सांसद, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की महासचिव-प्रभारी उ.प्र. महिला कांग्रेस श्रीमती शोभना शाह प्रमुख रूप से मौजूद रहीं. सम्मेलन का संचालन अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की महासचिव-प्रभारी उ.प्र. महिला कांग्रेस श्रीमती शोभना शाह एवं प्रदेश महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष डॉ. चारू मेहरोत्रा ने किया.


महिला कांग्रेस के सम्मेलन ‘संकल्प’ को सम्बोधित करती हुई दिल्ली प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि उ.प्र. दुनिया का आला प्रदेश जाना जाता था पिछले 27 वर्षों में यहां गैर कांग्रेसी सरकारें बनी हैं उन्होने अपनी जेबें भरीं और आम जनता के लिए एक धेला भी काम नहीं किया. आज उ.प्र. देश के सबसे पिछड़े प्रदेशों की श्रेणी में आता है. आज पूरे देश में घर-घर में तकलीफ हो रही है. चाहे नोटबन्दी हो, महिलाओं की सुरक्षा हो, बच्चों की शिक्षा हो, शिक्षण संस्थान हों, हर जगह परेशानी है. समाज में धर्म और जाति के नाम पर बांटा जा रहा है जिससे आप सभी परिचित हैं. प्रधानमंत्री और केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण मंहगाई चरम पर है आम जरूरत की चीजों के दाम दुगुना-तिगुना बढ़ गये हैं, हम पर बोझ डाला जा रहा है. महिलाएं बदलाव करने में सक्षम हैं और आप सभी को आज यह संदेश लेकर यहां से जाना है और लोगों को जागरूक करना है कि अच्छा भविष्य चाहिए तो कांग्रेस पार्टी से अच्छा विकल्प कोई नहीं है, इसलिए कांग्रेस पार्टी की सरकार बनानी है.


mahila-congress


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कैशलेस, और आज सभी लोगों की जेबें खाली हो गयी हैं कैशलेस हो गये हैं. नरेन्द्र मोदी को कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उनके पास न तो मां, न पत्नी और न अपनी कोई जिम्मेदारी है. उनके लिए गाड़ी, मकान, घर सभी कुछ फ्री है, एक बात जरूर है कि वह खुद को फकीर कहते हैं लेकिन पचास हजार का जूता पहनते हैं और लाखों के सूट पहनते हैं। उन्होने कहा कि नोटबन्दी के राक्षस ने आज के गुल्लक को तोड़कर सब कुछ छीन लिया है अब आप सभी को गुल्लक तोड़ने वालों को सबक सिखाना है, आपको यह बात याद रखनी है कि जहां कांग्रेस का हाथ दिखाई दे तो आपको समझ लेना चाहिए यह गुल्लक तोड़ने वालों से बचाने वाला हाथ है.


अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि उ.प्र. में कांग्रेस क्यों जरूरी है और कांग्रेस व अन्य दलों में क्या अंतर है. हम ऐसी पार्टी के सदस्य हैं कि जिसने आजादी दिलायी और आजादी के बाद विकास के रास्ते पर ले गयी. महिलाओं को गर्व होना चाहिए कि आज हमारे देश में यह कांग्रेस पार्टी की देन है कि आजादी के साथ ही महिलाओं को मताधिकार का अधिकार मिला इसके लिए कांग्रेस पार्टी और बाबा साहब अम्बेडकर के प्रति देश की महिलाएं कृतज्ञ हैं. उन्होने कहा कि देश में आधी आबादी महिलाओं की है, सरकार किसकी होगी इसे हम तय करते हैं किंन्तु महिलाएं दिल से बहुत भावुक होती हैं और कई बार गलत निर्णय ले लेती हैं यही गलती पिछले चुनाव में हुई है. पिछले ढाई वर्ष में यदि सबसे ज्यादा कोई परेशान हुआ है तो वह महिलाएं ही है. मंहगाई कम होने के बजाय दोगुनी-तिगुनी बढ़ गयी है. आज तेल, चीनी, दालें आम आदमी की थाली से गायब होता जा रहा है. महिला सुरक्षा के नाम पर ढाई वर्षों में सर्वाधिक अत्याचार महिलाओं पर बढ़े हैं. महिला सुरक्षा पूरी तरह खोखला साबित हुआ. महिलाएं केन्द्र की मोदी सरकार से पूछना चाहती हैं कि महिलाओं पर अत्याचार क्यों बढ़े. धर्म और जाति के नाम पर महिलाओं को छला गया. चुनाव से पूर्व साम्प्रदायिक दंगे कराये गये, दंगों में सबसे ज्यादा परेशान महिलाएं होती हैं. कांग्रेस के नेताओं ने इस देश की एकता के लिए महात्मा गांधी से लेकर इन्दिरा गांधी और राजीव गांधी ने अपना बलिदान दिया है. जो नोटबन्दी और कालाधन की बात करते हैं उन्होने आज छात्र, किसान, गरीब, युवा, महिला, वृद्ध सभी को लाइन में खड़ा कर दिया है सवा सौ से अधिक लोग लाइनों में लगकर मौत के शिकार हो गये हैं. बीजेपी का कोई नेता लाइन में नहीं दिखा. यही बीजेपी के नेता स्वच्छ भारत के नाम पर झाड़ू लेकर फोटो खिंचाते दिख रहे थे लेकिन आज परेशानी में कोई नहीं दिख रहा किन्तु जब राहुल गांधी आम जनता की परेशानी में उनके साथ खड़े हुए तो इन लोगों ने तरह-तरह की बातें की और अपनी 90 वर्षीय मां को लाइन में खड़ा कर दिया. इनको शर्म आनी चाहिए. इनको अपनी मां की चिन्ता नहीं है. तीन तलाक की बात करते हैं, जब हमारा प्रधानमंत्री अपनी पत्नी की चिंता नहीं कर सकता तो पूरे देश की महिलाओं की क्या चिन्ता करेगा.


mahila-congress-3


हमारी मां बहनों ने जो पैसे बचाकर रखा था उसमें भी मोदी जी बतायेंगे कि उन्हें कितना मिलेगा. खुद तो अपनी बेटियों की शादी करोड़ों में करते हैं और हमारे लिए तय करते हैं कि कितना पैसा मिलेगा. लाइन में लगे लोगों को चोर बता दिया. उन्होने कहा कि महिलाएं जिस पार्टी से नाराज होती है उसके विरूद्ध नारा नहीं लगातीं बल्कि चुनाव में वोट के जरिए जवाब देती हैं. सूटबूट वालों ने काला धन वालों को बता दिया कि 50 प्रतिशत हमें दो और 50 प्रतिशत खुद रखो. आज पूरे देश में मजदूर और कामगार बेरोजगार हो गये हैं. इसलिए महिला कांग्रेस को इस बार पूरी कमर कसकर ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकना है और सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी के संकल्प को लेकर घर-घर जाना है और कांग्रेस पार्टी की सरकार बनानी है.


महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती प्रतिमा सिंह ने कहा कि आप सभी लोग पूरे प्रदेश के कोने कोने से आयीं है, इसी प्रकार की ऊर्जा आपको आने वाले चुनाव में भी दिखाना है और आज यह संकल्प लेकर जाना है कि आने वाले चुनाव में कंाग्रेस पार्टी की सरकार बनानी है.


सम्मेलन को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सचिव-सहप्रभारी उ.प्र. श्रीमती विजय लक्ष्मी साधो पूर्व सांसद, सांसद पी.एल. पुनिया, पूर्व सांसद श्रीमती अन्नू टण्डन, विधायक श्रीमती अराधना मिश्रा, डॉ. लालती देवी ने भी सम्बोधित किया.


सम्मेलन में प्रमुख रूप से अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की सचिव श्रीमती सुनीता सहरावत, मध्य प्रदेश की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती माण्डवी चौहान, पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी, पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी, पूर्व एमएलसी हरीश बाजपेयी, उपाध्यक्ष मदन मोहन शुक्ला, महासचिव प्रशासन प्रमोद सिंह, श्रीमती अनुपमा रावत, श्रीमती तलत अजीज, नदीम अशरफ जायसी, श्रीमती सिद्धिश्री, श्रीमती सुधा सिंह, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्रीमती नफीसा अली सहित हजारों की संख्या में महिला कांग्रेस की जिला/शहर अध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी एवं महिला कार्यकर्ता मौजूद रहीं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top