Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब सोशल मीडिया पर नज़र रखेगी पुलिस

 Sabahat Vijeta |  2016-12-09 15:32:36.0

dgp
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. पुलिस सप्ताह कार्यक्रम के तहत आज पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने कहा कि वर्ष 2016 सभी की मेहनत से कानून व्यवस्था की दृष्टि से ठीक रहा है और सभी त्यौहार, मेला आदि सकुशल सम्पन्न हुए हैं. अपराध नियंत्रण की दृष्टि से फूट पेट्रोलिंग बेहतर फार्मूला है, जिसके निर्देश दिये गये थे, जिन्हें लागू किये जाने के फलस्वरूप अच्छा प्रभाव पड़ा है. यह फार्मूला जारी रखा जायगा.


जावीद अहमद ने कहा कि विशेष रूप से एसटीएफ ने संगठित अपराधों की रोकथाम के लिए अच्छा काम किया है. एसटीएफ ने जहॉ कई हत्याकाण्डों का अनावरण किया, वहीं बैंक डकैती, हत्या आदि के 117 मामलों की रोकथाम करने में भी सफलता प्राप्त की है.



उन्होंने कहा कि संगठित अपराधों की रोकथाम के लिए जनपद स्तर पर भी कार्य होने चाहिए. वाहन चोरी के मामलों में टीमें बनाकर रोकथाम की जाये. सोशल मीडिया के माध्यम से भी अपराध पर रोकथाम की जा सकती है जिलों को सोशल मीडिया सेल से जो ट्वीट कार्यवाही हेतु जनपदों को भेजे जाते हैं उन पर समय से कार्यवाही की जाये. उन्होंने ट्विटर, फेसबुक पर आपत्तिजनक मैसेज पोस्ट पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने कहा कि विवेचनाओं में वैज्ञानिक संसाधनों का प्रयोग किया जाये. वर्ष 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग के निर्देशों पर पूरे मनोयोग से कार्य किया जाये.


पुलिस सप्ताह कार्यक्रम के अन्तर्गत आज 9 दिसम्बर को पुलिस रेडियो मुख्यालय महानगर में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का सम्मेलन आयोजित हुआ. कार्यक्रम की अध्यक्षता जावीद अहमद, पुलिस महानिदेशक उ.प्र. ने की. अपर पुलिस महानिदेशक (अपराध) अभय कुमार प्रसाद द्वारा प्रस्तुतीकरण देने वाले अधिकारियों का परिचय दिया गया.


dgp-2


बैठक में श्रीमती तिलोत्तमा वर्मा, अपर पुलिस महानिदेशक/निदेशक, वाइल्ड लाइफ कंट्रोल ब्यूरो, नई दिल्ली ने 'Wild Life Crime-National and International Ramifications'

के सम्बन्ध में अपना प्रस्तुतीकरण दिया.


उन्होंने कहा कि तस्करों द्वारा हाथी, चीता, बाघ, शेर, लोमड़ी, भालू आदि विशेषकर कछुआ का क्रूरतापूर्वक शिकार कर उनके अंगों, खालों आदि की तस्करी कर देश के अन्य भागों एवं विश्व के दक्षिण पूर्व एशिया में की जाती है जिस पर अंकुश लगाये जाने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि ऑन लाइन वाइल्ड लाइफ क्राइम डेटावेस तैयार कर जनपदीय पुलिस, एसटीएफ व वन विभाग के सहयोग से वन्य जीवों की तस्करी पर रोक लगाये जाने का प्रयास किया जा रहा है. वर्ष 2017 में तस्करी पर पूरी तरह से अंकुश लगाते हुए जीरो प्रतिशत किया जायेगा.


सम्मेलन के दौरान आशुतोष पाण्डेय, पुलिस महानिरीक्षक, पीएसी पूर्वी जोन द्वारा 'Performance Evaluation of Police Station' के सम्बन्ध पर प्रकाश डालते हुए अपराधों की रोकथाम, कम्युनिटी पुलिसिंग, गूगल मैपिंग का प्रयोग, हत्या, बल्वा की रोकथाम एवं पेपर कटिंग की जॉच तथा कार्यवाही पर विचार प्रस्तुत किये. उन्होंने कहा कि अपराधों की रोकथाम के लिए कम्युनिटी पुलिसिंग के अन्तर्गत सुरक्षा समितियों, एनजीओ व जनता के साथ बैठक जरूरी है. इसी प्रकार गूगल मैपिंग का प्रयोग कर अपराधों की रोकथाम के लिये अच्छा प्रयोग है.


dgp-3


सम्मेलन में ए.सतीश गणेश, पुलिस महानिरीक्षक, लखनऊ जोन द्वारा 'Media Management including Social Media' विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा गया कि ब्रीफिंग से पूर्व अधिकारियों को तैयारी कर लेनी चाहिए. ब्रीफिंग करने वाले अधिकारी को घटना के सम्बन्ध में उठाये जाने वाले सम्भावित प्रश्नों के बारे में यथासम्भव महिला यौन उत्पीड़न के मामले में महिला का नाम कभी नहीं आना चाहिए. ब्रीफिंग के लिए दिये गये समय पर पहुंचना चाहिए. पुलिस की पाजिटिव एक्टिीविटी, वेलफेयर के कार्य हेल्थ चेकअप, यातायात जागरूकता जैसे विषयों को भी ब्रीफिंग में शामिल किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पापुलर हो रहा है. ट्विटर, फेसबुक पर कोई आपत्तिजनक मैसेज पोस्ट किया जाता है तो लॉ एण्ड आर्डर की समस्या होती है. अभी थोड़े दिन पहले शरारती तत्वों द्वारा सोशल मीडिया के जरिये नमक को मंहगा बिकवा दिया गया. ट्विटर, फेसबुक पर ऐसी कोई चीज़ पोस्ट होने पर तत्काल उसका खण्डन आवश्यक है.


मुथा अशोक जैन, पुलिस महानिरीक्षक, सुरक्षा द्वारा 'Intelligent Deployment for Bandobast Duty' पर अपना प्रस्तुतीकरण दिया गया. जिसमें उन्होंने वीवीआईपी सुरक्षा के लिए तकनीकी, ड्रोन कैमरा, सीसीटीवी के उपयोग के बारे में बताया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top