Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब उच्च शिक्षा का स्तर सुधारेंगे विदेशी शिक्षक

 Sabahat Vijeta |  2016-04-10 13:46:22.0

katheriyaसुजीत चक्रवर्ती  
अगरतला/गुवाहाटी, 10 अप्रैल| केन्द्र सरकार पूर्वोत्तर के राज्यों में उच्च शिक्षा के स्तर में और सुधार के लिए विदेश से शिक्षक बुलाएगी। केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री राम शंकर कथेरिया ने यह जानकारी दी है।


कथेरिया ने आईएएनएस से कहा, 'सरकार पूर्वोत्तर के राज्यों के शिक्षण संस्थानों में उच्च शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए विदेश से शिक्षक बुलाने और संरचनात्मक विकास सहित सारे उपाय करेगी।' उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के लिए पूर्वोत्तर क्षेत्र प्राथमिकता वाला इलाका है। इस क्षेत्र में उच्च शिक्षण संस्थानों के विकास के लिए हर संभव प्रयास होंगे।


कथेरिया इस हफ्ते यहां आए थे। उन्होंने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) अगरतला में नवनिर्मित गोल्डन जुबली नॉलेज सेंटर का उद्घाटन किया। इसके साथ ही उन्होंने त्रिपुरा केंद्रीय विश्वविद्यालय में एक अकादमिक भवन का उद्घाटन किया। कथेरिया आईएएनएस से भारत में उच्च शिक्षण संस्थानों की हालिया रैंकिग के बारे में बात कर रहे थे।


उन्होंने कहा, "हम लोग पूर्वोत्तर भारत के उच्च शिक्षण संस्थानों की प्रगति के लिए इन्हें वैश्विक शैक्षिक नेटवर्क में शामिल करेंगे। आने वाले वर्षो में आपको बेहतरी नजर आएगी।" हाल में केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय ने जो रैंकिंग जारी की है उसमें असम का तेजपुर विश्वविद्यालय, गुवाहाटी का भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) और मेघालय की नॉर्थ इस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी (एनईएचयू) के नाम शामिल हैं।


पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में से नगालैंड, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश एचआरडी मंत्रालय के नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) कार्यक्रम के तहत विश्वविद्यालय की रैंकिंग में स्थान बना पाने में नाकाम रहे। मंत्रालय ने यह रैंकिंग पहली बार जारी की है।


शिलांग स्थित राजीव गांधी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट और असम का तेजपुर विश्वविद्यालय स्थित डिपार्टमेंट ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन शोध और शिक्षण के मामले में देश के प्रबंधन के शीर्ष 50 संस्थानों में शामिल हैं। असम के डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय स्थित डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्युटिकल साइंस शोध और शिक्षा के मामले में देश के 50 सबसे अच्छे फार्मेसी संस्थानों में शामिल है।


तेजपुर विश्वविद्यालय को हाल में 40 से अधिक केंद्रीय विश्वविद्यालयों में सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय माना गया है और इसे विजिटर्स पुरस्कार से नवाजा गया है।

  Similar Posts

Share it
Top