Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब हाथियों को पर्दा कराये चुनाव आयोग

 shabahat |  2017-01-09 16:56:13.0



लखनऊ. संविधान की तरफ से सभी नागरिकों को समानता का अधिकार दिया गया है, लोकतंत्र का पहला पायदान चुनाव है जिसे फ्री एंड फेअर और अवसर की समता के सिद्धांत पर चुनाव कराना चुनाव आयोग का दायित्व है जिसे निष्पक्ष रूप से कराने की अपेक्षा है.

इसके मद्देनज़र लोकतंत्र मुक्ति आन्दोलन के संयोजक प्रताप चन्द्र ने आज चुनाव आयोग में लिखित आपत्ति दायर की कि अवसर की समता और फ्री एंड फेयर चुनाव के सिद्धांत पर चुनाव आचार संहिता लागू होने के 5 दिन बाद भी उत्तर प्रदेश के तमाम पार्कों में बहुजन समाज पार्टी के चुनाव-चिन्ह हाथी की मूर्तियाँ लगी हैं जो पब्लिक प्लेस हैं. जिससे निरंतर पार्टी के चुनाव-चिन्ह हाथी का प्रचार होता रहता है, लिहाज़ा हाथी की मूर्तियों को तत्काल ढका जाये.


इस विषय पर आयोग ने दिल्ली हाई कोर्ट की टिप्पणी और पार्टियों के सुझाव लेकर उस पर 7 अक्टूबर 2016 लाफुल डायरेक्शन No.56/4 LET/ECI/FUNC/PP/PPS-II/ 2015 बनाया था. विदित हो कि 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में भी चुनाव आयोग द्वारा उत्तर प्रदेश के तमाम पार्कों में बहुजन समाज पार्टी के चुनाव-चिन्ह हाथी के स्टेचू को ढकवाया गया था.

लेकिन 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इन हाथी के मूर्तियों को नहीं ढकवाया गया था जिस पर आयोग से न ढकवाने का कारण पूछने पर आयोग ने बताया था कि किसी ने आपत्ति नहीं की थी इसलिए लोकसभा चुनाव में नहीं ढकवाया गया था.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top