Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नोटबन्दी ने बेरोजगारी को बढ़ा दिया है

 Sabahat Vijeta |  2016-12-31 13:28:52.0


congress-siraj-mehdi


लखनऊ. उ.प्र. कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग द्वारा आज आजमगढ़ के मुबारकपुर में मण्डलीय अल्पसंख्यक सम्मेलन आयोजित किया गया, जिसमें अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैय्यद, विभाग के प्रान्तीय चेयरमैन हाजी सिराज मेंहदी पूर्व एमएलसी सहित तमाम प्रदेशीय वरिष्ठ नेतागण मौजूद रहे.


यह जानकारी देते हुए अल्पसंख्यक विभाग के प्रवक्ता चौधरी सलमान कादिर ने बताया कि अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैयद के आजमगढ़ मण्डलीय सम्मेलन में लखनऊ से जाते समय रास्ते में जनपद बाराबंकी, जनपद फैजाबाद एवं जनपद अम्बेडकरनगर में अल्पसंख्यक विभाग के जिला एवं शहर अध्यक्षों के नेतृत्व में सैंकड़ों कार्यकर्ताओं द्वारा फूल-मालाओं से भव्य स्वागत किया गया.


श्री कादिर ने बताया कि मण्डलीय कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन खुर्शीद अहमद सैयद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में नोटबन्दी करके बेरोजगारी को बढ़ा दिया है. आज छोटे उद्योग पूरी तरह बंद हो गये हैं. छोटे-मोटे काम करने वाले कामगार बेरोजगार हो गये हैं और रोजी रोटी के लिए परेशान हैं, सबसे अधिक परेशानी अल्पसंख्यक समुदाय को हुई है. उन्होने कहा कि नोटबन्दी से देश की आर्थिक स्थिति खराब हो गयी है. तमाम लोगों की बैंकों एवं एटीएम में लाइन लगाने से मौत हो चुकी है. पचास दिन में सब ठीक करने का वादा करने वाले प्रधानमंत्री घूम-घूमकर आम जनता से समय मांग रहे थे और पचास दिन बीत जाने पर भी स्थिति वही की वही बनी हुई है. आम जनता परेशान है. उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी ही एक ऐसी पार्टी है जिसने अल्पसंख्यकों के हितों के लिए कार्य किये हैं.


इस मौके पर उ.प्र. कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन एवं पूर्व एमएलसी हाजी सिराज मेंहदी ने कहा कि विगत 27 वर्षों में उ.प्र. में भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी एवं समाजवादी पार्टी के कुशासन के कारण प्रदेश बेहाल हो गया है. कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है. वर्तमान सपा सरकार ने पिछले विधानसभा चुनाव में अपने घोषणापत्र में अल्पसंख्यक समाज से जो वादा किया था उसमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया. पूर्वीवर्ती बसपा सरकार की मुख्यमंत्री रहीं सुश्री मायावती प्रदेश में चार बार मुख्यमंत्री रहीं किन्तु इन्होने सिर्फ अल्पसंख्यकों को छलने का काम किया. केन्द्र की मोदी सरकार जबसे सत्ता में आयी है तबसे पूरे देश और प्रदेश में अल्पसंख्यकों में खौफ पैदा किया जा रहा है. केन्द्रीय बजट में अल्पसंख्यक समुदाय के शैक्षिक, आर्थिक एवं सामाजिक विकास के लिए दिये जाने वाले अनुदान में भारी कटौती की गयी. प्रदेश की जनता इन गैर कांग्रेसी दलों की नीतियों से ऊब चुकी है. प्रदेश का अल्पसंख्यक समुदाय अब इनके बहकावे में नहीं आने वाला है.


श्री कादिर ने बताया कि आजमगढ़ में आयोजित इस मण्डलीय सम्मेलन में प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के वाइस चेयरमैन अकरम अंसारी, स्टेट कोआर्डिनेटर श्रीमती सबीहा अंसारी, मोहम्मद नासिर स्टेट कोआर्डिनेटर, सै. इबरत उल्ला, ओकास अंसारी, नाजिर हुसैन, शहर अध्यक्ष वाराणसी हसन मंहदी, जिलाध्यक्ष मऊ मुश्ताक अली आदि सहित हजारों की संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top