Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कस्टमर का Sex Worker को पैसे न देना रेप नहीं कहा जा सकता

 Anurag Tiwari |  2016-10-12 11:07:05.0

 सुप्रीम कोर्ट , supreme court, rape, रेप , सेक्स वर्कर , sex worker, money,case, petition

तहलका न्यूज ब्यूरो

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने एक रेप केस की सुनवाई करते हुए ऐतिहासिक फैसला दिया है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि अगर कोई कस्टमर सेक्स वर्कर के साथ सम्बन्ध बनाने के बाद पैसे नही देता या देने से मना कर देता है, तो इस मामले में कस्टमर पर पर रेप केस दर्ज नहीं किया जा सकता. सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला बेंगलुरू में बीस साल पहले दर्ज हुए मामले में दिया है. कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इस मामले के तीन आरोपियों को बरी भी कर दिया है.


सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में स्पष्ट किया कि अगर कोई महिला किसी पर बलात्कार का आरोप लगाती है तो उसकी शिकायत तुरंत दर्ज की जानी चाहिए. कोर्ट ने यह भी कहा रिपोर्ट दर्ज करते समय उसकी सारी बातें सही होनी चाहिए. सभी रेप के केस सही नहीं होते, ऐसे में रेप के शिकायतों की पर्याप्त जांच होनी चाहिए और महिला के पास भी अपने ऊपर हुए अपराध को साबित करने के लिए पुख्ता सबूत भी होना चाहिए ताकि किसी बेगुनाह को आरोपी न बनाया जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने जिस मामले में यह फैसला दिया है वह बीस साल पहले बेंगलुरु में घटित हुआ था.इस केस में महिला ने तीन लोगों पर उसका अपहरण कर रेप करने का आरोप लगाया था. इसे केस को प्रथम द्रष्टया सही मानते हुए कर्नाटक हाईकोर्ट ने रेप का केस दर्ज करने का आदेश दिया था. इसके बाद आरोपियों ने इस मामले में सुप्रीमकोर्ट में अपील की थी.

हालांकि महिला ने रेप का आरोप लगाया था लेकिन महिला की सहेली ने कोर्ट में उसके खिलाफ ही बयान दिया और कोर्ट को बताया कि उसकी दोस्त दिन में नौकरानी का और रात में सेक्स वर्कर का काम करती थी. इसी दौरान उसने तीनों आरोपियों के साथ रात भर की डील की और 1000 रूपए की मांग की. इस महिला सा सम्बन्ध बनाने के बाद तीनों आरोपियों ने डील के पैसे देने मना कर दिया, जिससे नाराज होकर महिला इन तीनों पर किनैपिंग और रेप का केस दर्ज कर दिया था



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top