Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चन्द्रशेखर आजाद पार्क में प्रवेश के लिए अब कोई शुल्क नहीं

 Sabahat Vijeta |  2016-04-23 16:24:34.0


  • मुख्यमंत्री ने इलाहाबाद में 122 करोड़ 47 लाख 82 हजार रूपये की 61 योजनाओं का लोकार्पण और 202 करोड़ 61 लाख 51 हजार की 4 परियोजनाओं का शिलान्यास किया

  • यमुनापार की चारों तहसील में बुन्देलखण्ड की तरह सूखा राहत पैकेज उपलब्ध कराने की घोषणा

  • बारा, करछना तथा मेजा पावर प्लाण्ट के आरम्भ होने से बिजली उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी

  • मुख्यमंत्री ने कल्याणकारी योजनाओं से जरूरतमन्दों को लाभान्वित किया

  • समाजवादी सरकार ने प्रदेश की अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने का कार्य किया

  • राज्य सरकार ने सीमित संसाधनों से प्रदेश की तस्वीर बदली


akh-allahabadलखनऊ, 23 अप्रैल. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज इलाहाबाद जनपद में 122 करोड़ 47 लाख 82 हजार रुपए की लागत की 61 योजनाओं का लोकार्पण और 202 करोड़ 61 लाख 51 हजार रुपए की 4 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होेंने कहा कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को समाजवादी सरकार ने बेहतर बनाने का कार्य किया है। सीमित संसाधनों में प्रदेश के विकास के रास्ते में आने वाली चुनौतियों का सामना करते हुए राज्य सरकार ने प्रदेश की तस्वीर बदली है।


मुख्यमंत्री आज इलाहाबाद में चाका विकास खण्ड की इरादतगंज हवाई पट्टी पर विभिन्न विकास परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास अवसर पर आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने हाईटेक सिटी, सिविल लाइन्स सौन्दर्यीकरण, राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना, चन्द्रशेखर आजाद उद्यान के सौन्दर्यीकरण कार्यों की चर्चा करते हुए घोषणा की कि चन्द्रशेखर आजाद पार्क में प्रवेश के लिए कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा।


मुख्यमंत्री ने यमुनापार की चारों तहसील में अवर्षण से उत्पन्न सूखा राहत प्रदान किए जाने के बारे में घोषणा करते हुए कहा कि यमुनापार की स्थिति कमोबेश बुन्देलखण्ड जैसी है, इसलिए अवर्षण और ओलावृष्टि से किसानों को जो नुकसान पहुंचा है, उसके लिये सूखा राहत पैकेज उसी प्रकार उपलब्ध होगा, जैसा कि बुन्देलखण्ड में प्रदेश सरकार उपलब्ध करा रही है।


श्री यादव ने यमुनापार में बारा, करछना तथा मेजा पावर प्लाण्ट की चर्चा करते हुए कहा कि इन पावर प्लाण्टों के आरम्भ होने से प्रदेश में बिजली उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी। उन्होेंने आश्वासन दिया कि वह बारा पावर प्लाण्ट के उद्घाटन और करछना पावर प्लाण्ट के शिलान्यास के लिए शीघ्र ही इलाहाबाद आएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगापार में विकास की योजनाओं का खाका तैयार है, इसके लिए वे शीघ्र ही गंगापार का भी भ्रमण करेंगे।


श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश को सर्वोत्तम प्रदेश बनाने का सपना 4 वर्षों की अवधि में समाजवादी सरकार ने साकार कर दिया है। इसका परिणाम जनता के सामने है। उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा, ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस, 1090 विमेन पावर लाइन, समाजवादी पेंशन योजना जैसी योजनाओं की अनूठी पहल उत्तर प्रदेश में की गई, जिसकी नकल अन्य प्रदेशों में की जा रही है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार ने गांव, गरीब, किसान के लिए विभिन्न विकास की योजनाएं संचालित की हैं। उन्होंने कहा कि मुफ्त सिंचाई, दवाई व पढ़ाई की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की गई है। पिछले 4 वर्षों में प्रदेश के हर हिस्से को विकास से जोड़ा गया है। इसके साथ-साथ डाॅ. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना, लोहिया ग्रामीण आवास योजना, कामधेनु डेरी परियोजना के माध्यम से विकास के कार्य किए जा रहे हैं।


श्री यादव ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की जिक्र करते हुए कहा कि यह सड़क नहीं, बल्कि प्रदेश की खुशहाली का प्रतीक है। यह मार्ग जिन जनपदों और क्षेत्रों से होकर गुजरेगा, वहां तरक्की की रफ्तार लगातार बढ़ती जाएगी। राज्य सरकार स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, सिंचाई, विद्युत उत्पादन से लेकर ट्रान्समिशन लाइनों को बढ़ाने का काम कर रही है। बहुत शीघ्र ही इसके परिणाम आम जनता को मिलने लगेंगे। किसानों का कर्जा माफ किया गया है। नौजवानों को बड़े पैमाने पर सरकारी नौकरी देने के साथ ही, अन्य रोजगार अवसरों की व्यवस्था की जा रही है।


आज मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित की गई परियोजनाओं में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फूलपुर में 30 शैय्या वाला मैटरनिटी विंग, लाक्षागृह, सोरों, अरैल, मुकुन्दपुर, शुकुलपुर तथा घूरपर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, बेली चिकित्सालय के इमरजेन्सी वार्ड का विस्तार कार्य, स्वरूप रानी चिकित्सालय में आधुनिक चीरघर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र होलागढ़, बक्शी बांध पर एसटीपी रिंग बांध पर सुरक्षात्मक एवं पुनस्र्थापना के कार्य, आॅब्जर्वेशन होम एवं राजकीय बाल सुधार गृह खुल्दाबाद का निर्माण कार्य, माॅडल स्कूल कमला नगर, विकास खण्ड बहरिया एवं माॅडर्न स्कूल समहन विकास खण्ड ऊरुवा के भवन का निर्माण कार्य, जनेश्वर मिश्र योजना के अन्तर्गत 20 ग्रामों में कराए गए कार्यों एवं इलाहाबाद जिले की 28 सड़कों के कार्य शामिल हैं। शिलान्यास की गई परियोजनाओं में तेज बहादुर सप्रू चिकित्सालय में ट्राॅमा सेण्टर एवं उपनिबन्धक कार्यालय हडि़या का निर्माण कार्य, नव स्थापित जिला करागार नैनी का निर्माण कार्य एवं नव स्थापित विधि विज्ञान प्रयोगशाला शान्तिपुरम फाफामऊ के निर्माण कार्य सम्मिलित हैं।


समारोह स्थल पर मुख्यमंत्री ने कुल 665 लाभार्थियों को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के स्वीकृत पत्र और सहायता राशि का भी वितरण किया। इनमें लोहिया आवास योजना के 100 लाभार्थी, समाजवादी पेंशन योजना के 200 लाभार्थी, साइकिल सहायता योजना के 200 लाभार्थी, बीएसयूपी के अन्तर्गत आवास आवंटन के 50 लाभार्थी, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत 50 लोगों केा न्यूनतम दरों पर खाद्य आवंटन, कन्या विद्या धन के 25 लाभार्थी, मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण योजना के 20 लाभार्थी तथा ट्राई साईकिल/बैसाखी वितरण के 20 लाभार्थी सम्मिलित हैं।


इस अवसर पर पूर्व सांसद और सपा के वरिष्ठ नेता कुंवर रेवती रमण सिंह, पूर्व सांसद अतीक अहमद सहित अन्य वक्ताओं ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया। पूर्व में, मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया और जगत तारन गर्ल्स इन्टर काॅलेज की छात्राओं ने विकास गीत की मनमोहक प्रस्तुति से लोगों का दिल जीत लिया। मुख्यमंत्री ने इन छात्राओं को पुरस्कार देने की भी घोषणा की।


इस मौके पर इस अवसर पर मंत्रिगण, सांसद, विधायक, अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

  Similar Posts

Share it
Top