Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पूर्वांचल के जिलों में बैंको-एटीएम में कैश खत्म, सहालग के वक्त लोग परेशान

 Tahlka News |  2016-04-21 07:25:22.0

An Indian employee looks for illegal Indian rupee currency notes at a bank in Mumbai on September 3, 2013. India's currency slid sharply and the share market crashed nearly 3.5 percent in another major sell-off caused by uncertainty in the Middle East and a new gloomy economic forecast by Goldman Sachs. The rupee, the worst performing major currency in Asia this year, skidded 3.25 percent to 68.15 to the dollar as shares closed down 651 points or 3.45 percent to 18,234.66 points. AFP PHOTO/ Indranil MUKHERJEE / AFP / INDRANIL MUKHERJEE

तहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 21 अप्रैल. यूपी के अंबेडकरनगर-गोरखपुर समेत पूर्वांचल के कई जिलों में बैंकों में कैश खत्म हो गया है। साथ ही एटीएम भी खाली हो गए हैं। खाते में पैसा होने के बावजूद शादी-ब्याह से सीजन में न निकाल पाने से लोग परेशान है। वहीं, बैकों का कहना है कि रिजर्व बैंक से ही करेंसी नही आ रही है।


जबकि लखनऊ में आरबीआई के इश्यू डिपार्टमेंट के प्रभारी महाप्रंबधक योगेश दयाल का कहना है कि प्रदेश में इस समय 231 करेंसी चेस्ट है, जिनमें से दो अंबेडकरनगर में हैं। दोनों में आरबीआई पर्याप्त राशि की सप्लाई कर रहा है। बैंक इनसे करेंसी निकाल भी रहे हैं। लेकिन बैंको को जितना इन चेस्ट में जमा करना चाहिए उतना नहीं कर रहे हैं। इसी से संकट पैदा हुआ है।


जीएम योगेश दयाल का कहना है कि शादी विवाह का दौर शुरू हो गया है। होली अभी बीती ही है। इन दिनों में भारी मात्रा में पैसा निकाला गया। यह पैसा सर्कुलेट होकर बैंको में जमा होता है, पर अभी यह क्रम टूट रहा है। यह समस्या राष्ट्रीय स्तर पर बनी हुई है।


एसबीआई के एक अफसर का तर्क है कि यूपी के चुनावों से पहले ऐसी स्थितियां अक्सर आती हैं। बैंकों से भारी मात्रा में पैसा निकाला जाता है। जो वापस सिस्टम में नही आता।


बता दें कि करेंसी चेस्ट आरबीआई के अधीन हैं। करेंसी की सप्लाई बनाये रखने के लिये आरबीआई में इश्यू डिपार्टमेंट करेंसी मैनेजमेंट का काम करता है। देशभर में इस समय 4281 करेंसी चेस्ट और 4044 कॉइन डिपॉजिट है।


हर शाखा के पास पैसा रखने की एक सीमा होती है। अगर किसी शाखा के लिये यह सीमा 20 करोड़ रूपये है और दिनभर में वह 22 करोड़ रूपये का कारोबार  कर ले तो अतिरिक्त आय 2 करोड़ चेस्ट में लौटाता है। कारोबार अगर 18 करोड़ का हुआ तो करेंसी चेस्ट 2 करोड़ रूपए शाखा में भेजता है।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top