Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सीबीआई कोर्ट में पेश होने के बाद जेल भेजे गए यादव सिंह

 Tahlka News |  2016-03-29 10:58:44.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
गाजियाबाद, 29 मार्च. नोएडा वि‍कास प्राधिकरण के सस्‍पेंड चीफ इंजीनियर यादव सिंह और सस्‍पेंड प्रोजेक्ट इंजीनियर रामेंद्र सिंह को मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच स्पेशल सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया। इन दोनों पर दाखिल चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने इन दोनों को 11 अप्रैल को पेश होने के लिए कहा है। इस मामले में अन्य आरोपियों को कोर्ट में पेश होने के लिए 29 अप्रैल की तारीख दी है।


तीन फर्मों के डायरेक्टर और रिश्तेदार हैं आरोपी


यादव सिंह और रामेंद्र सिंह के अलावा जो अन्य आरोपी सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में बनाए हैं उनमें तीन फर्मों के डायरेक्टर और यादव सिंह के रिश्तेदार शामिल हैं। अधिवक्ता अमित के अनुसार यदि अन्य आरोपी 29 अप्रैल को कोर्ट में पेश नहीं होते तो कोर्ट उनकी गिरफ्तारी का आदेश दे सकती है। मंगलवार को कोर्ट में पेशी के बाद यादव सिंह और रामेंद्र सिंह को न्यायिक हिरासत में वापस जेल भेज दिया गया। अब वह 11 अप्रैल को जेल से कोर्ट में पेश होंगे।


3 फरवरी को यादव सिंह हुआ था गिरफ्तार
गौरतलब है नोएडा वि‍कास प्राधिकरण में करोड़ों रुपए के घोटाले के आरोपी यादव सिंह को सीबीआई ने बीते 3 फरवरी को गिरफ्तार किया था। यादव सिंह को 13 दिन तक कस्टडी रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई थी। निलंबित प्रोजेक्ट इंजीनियर रामेंद्र सिंह को यादव सिंह से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। वर्तमान में दोनों आरोपी डासना जेल में बंद हैं।


सीबीआई ने कोर्ट में दाखिल की थी चार्जशीट
सीबीआई ने यादव सिंह सहित 14 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी। चार्जशीट में यादव सिंह की पत्नी कुसुम लता को भी आरोपी बनाया गया है। सीबीआई ने चार्जशीट में आरोप लगाया है कि यादव सिंह ने बिना टेंडर जारी किए अपने चहेतों को करोड़ों रुपए के ठेके दे दिए थे। बाद में टेंडर भी उन्हीं ठेकेदारों को दिए गए, जिनसे बिना टेंडर हुए कार्य करा लिया गया। आरोप है कि ठेकेदारों ने बिना टेंडर छूटे 60 फीसदी काम करा दिया था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top