Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मिशन-2017: हो गई भूल-कमल का फूल

 Sabahat Vijeta |  2016-05-07 11:41:57.0

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


sharad-2लखनऊ. मिशन-2017 की तैयारी में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी कमर कस ली है. वह 10 जून को बलिया से दिल्ली के लिए किसान यात्रा की शुरुआत करेगी. दिल्ली में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी भारत सरकार को ज्ञापन देगी. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने आज लखनऊ के रवीन्द्रालय में आयोजित पार्टी के राज्य प्रतिनिधि सम्मलेन में शिरकत की और कहा कि 2017 में साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ जो भी पार्टी मजबूती से लड़ती नजर आये उसे मज़बूत करना चाहिए.


शरद पवार ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लिए उनकी पार्टी नई है. यहाँ पर जिन जिलों में उन्हें अपनी स्थिति मज़बूत नज़र आयेगी वहां से वह अपने प्रत्याशी उतारेंगे. उन्होंने कहा कि फिलहाल तो वह अपनी पार्टी को इस स्थिति में लाना चाहते हैं कि उससे गठबंधन के लिए बड़े दल लालायित नजर आयें. अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को 2017 के लिए शरद पवार ने नारा दिया- हो गई भूल-कमल का फूल.


sharadशरद पवार ने कहा कि कांग्रेस आज़ादी से पहले की पार्टी है. उसने लम्बे समय तक संघर्ष किया है तब उसने दिल्ली की सत्ता हासिल की. भारतीय जनता पार्टी भी पिछले 50 साल से संघर्ष कर रही है तो आज दिल्ली में उसकी सत्ता है. एनसीपी तो 15-16 साल पहले अस्तित्व में ही आई है. उसे तो शहर-शहर-गाँव-गाँव, दरवाज़े-दरवाज़े जाकर अपनी पहचान बनानी होगी. पार्टी को सत्ता में लाना है तो उसके कार्यकर्ताओं को पूरी शक्ति से काम करना होगा.


पवार ने कहा कि गरीबी को दूर करने के लिए लोगों को शिक्षित बनाना होगा. आबादी बढ़ जाने की वजह से लोगों के पास ज़मीनें कम हो गई हैं. किसान का बेटा किसान ही बनने में लगा रहेगा तो दिक्क़त तय है. उन्होंने कहा कि परिवार में एक व्यक्ति खेती संभाले और दूसरे भाई दूसरे व्यवसायों में लगें तो परिवार अच्छे से चलेगा.


sharad-3उन्होंने कहा कि 2014 के चुनाव में मोदी ने किसानों से वादा किया था कि उन्हें फसल का पूरा मूल्य मिलेगा. किसानों की स्थिति में सुधार होगा लेकिन दो साल गुजरने के बावजूद किसान आत्महत्या को मजबूर हैं. यूपी में किसानों की हालत बहुत खराब है. उन्होंने कहा कि भारत सरकार को यह तक नहीं पता है कि यूपी के 72 जिलों में सूखे के हालात हैं. महाराष्ट्र में पीने के पानी की बहुत कमी हो गई है.


शरद पवार ने कहा कि मोदी अपना राज्य गुजरात छोड़कर बनारस में चुनाव लड़ने आये थे तो यूपी के लोगों को लगा था कि चुनाव के बाद यूपी की किस्मत बदलेगी. लेकिन यूपी की किस्मत में कोई बदलाव नहीं आया. लोगों को लगा था कि मोदी आयेंगे तो बीजेपी साम्प्रदायिकता छोड़कर विकास के रास्ते पर चलेगी लेकिन दादरी जैसे काण्ड उसे झेलने पड़े. यूपी, एमपी और गुजरात में महिलाओं की सुरक्षा खत्म हो गई. उन्होंने कहा कि 2017 के चुनाव में साम्प्रदायिक ताकतों को हर हाल में रोकना होगा.


sharad-4इस मौके पर राज्यसभा सदस्य डॉ. डी.पी. त्रिपाठी ने कहा कि यूपी के 9 करोड़ लोग सूखे के शिकार हैं. उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने अपने कार्यकाल में दुनिया के सामने भारत की जो छवि बनाई थी उसे मोदी सरकार के कार्यकाल में दादरी जैसे काण्ड से धक्का पहुंचा है.


एनसीपी के राज्य प्रतिनिधि सम्मलेन में पार्टी की महिला सभा की प्रदेश अध्यक्ष शिल्पी श्रीवास्तव ने अपने कार्यकर्ताओं को अनुशासन का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि अनुशासन के बगैर कोई भी पार्टी आगे नहीं बढ़ सकती.




Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top