Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अनवर चाचा करेंगे ममता का कन्यादान, भगवान शिव होंगे साक्षी

 Tahlka News |  2016-04-13 15:03:58.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
कौशांबी, 13 अप्रैल. जाति और मजहब के नाम पर जहर घोलकर समाज को बांटने वालों को दोआबा के मो. अनवर से सीख लेनी चाहिए। धार्मिक समरसता की मिसाल पेश करते हुए अनवर चचा गुरुवार को पड़ोस की ममता के हाथ पीले कराने जा रहे हैं। वह मंदिर में सात फेरे दिलाने के साथ ही खुद कन्यान दान करेंगे।


नगर कोतवाली के टेंवा चौराहा निवासी मो. अनवर सुलेमानी का पड़ोसी अमरनाथ रैदास से गहरा लगाव था। अमरनाथ के दो बेटे पप्पू (26), राजू (22) और बेटी ममता (19) और सविता (12) समेत चार बच्चे हैं। 10 साल पहले पत्नी और फिर अमरनाथ की बीमारी के चलते मौत हो गई। तीन साल पहले हुई मौत के बाद बड़ा बेटा पप्पू जिम्मेदारियों से पीछा छुड़ाकर पानीपत भाग गया। छोटा बेटा राजू नशे का लती हो गया। करीबी रिश्तेदारों ने भी मुंह मोड़ लिया। ऐसे में अनाथ हुई ममता और सविता के लिए पिता के मित्र अनवर सहारा बनकर खड़े हुए। सिर से मां-बाप की साया हटने से बिलख रहीं बेटियों को अनवर और उनकी पत्नी ने पाला। वक्त गुजरने के साथ ममता शादी योग्य हुई तो अनवर चचा को शादी की चिंता सताने लगी।


वह रैदास बिरादरी में ही उसके लिए वर की तलाश में जुट गए। पर मामला गैरबिरादरी का होने के कारण इसमें उसे परेशानी भी उठानी पड़ी। बहरहाल पड़ोसियों की मदद से देवरा गांव के सुखलाल रैदास ममता को अपनी बहू बनाने के लिए राजी हो गए। दोनों की रजामंदी से गुरुवार को टेंवा के ही शिव मंदिर में रंजीत और ममता को सात फेरे दिलाए जाएंगे। अनवर ने बताया कि ममता के रिश्तेदारों को भी इसकी खबर दे दी गई है। वह खुद ही बेटी का कन्यादान करेंगे। अनवर का कहना है कि खुदा ने उसे जिंदा रखा तो वह छोटी बेटी सविता का भी कन्यदान करेगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top