Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुलायम ने की थी अखिलेश से तीखी बात, दवाब में जारी कराई चिट्ठी, और हो गया रिएक्शन

 Tahlka News |  2016-09-15 10:02:22.0

मुलायम ने की थी अखिलेश से तीखी बात, दवाब में जारी कराई चिट्ठी, और हो गया रिएक्शन
तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. समाजवादी सुनामी के उठने के तीन दिन बाद जब सुलह सफाई की कवायद में जब प्रो.रामगोपाल यादव लखनऊ पहुंचे तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से गोपनीय मुलाकात की और उसके बाद E Tv के सीनियर एडिटर बृजेश मिश्र से जब आन कैमरा बात की तो कई राज खुले.

अखिलेश ने रामगोपाल को यह भी बताया कि जब गायत्री प्रजापति, राजकिशोर सिंह और मुख्य सचिव दीपक सिंघल को हटाना शुरू किया तो फिर नेता जी ने उनसे फोन पर बात की और फिर काफी तीखी बाते सुनाई. इससे अखिलेश असहज हो गए थे. इसके बाद अखिलेश को प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाने के लिए रामगोपाल पर बहुत दवाब दिया गया. इसलिए ये चिट्ठी बहुत जल्दबाजी में जारी कर दी गयी और वही अखिलेश के उस रिएक्शन की वजह बनी जब उन्होंने शिवपाल यादव से विभाग छीन लिए.

E Tv के सीनियर एडिटर बृजेश मिश्र से बात करते हुए रक्गोपाल ने साफ़ कर दिया कि “बाहरी” व्यक्ति अमर सिंह ही थे जिन्होंने नेता जी को बरगलाया और अखिलेश पर हमला करने के लिए उकसाया.

रामगोपाल ने साफ़ किया कि ये बाहरी लोग कहते रहे हैं कि वे अखिलेश को बर्बाद कर देंगे. उनके ही दबाव में अखिलेश को अध्यक्ष पद से हटाने का फैसला मुलायम ने जल्दी मे लिया और नेताजी ने फोन करके अखिलेश को हटाने को कहा मुलायम का आदेश था,तर्क की गुंजाइश ही नही थी.

प्रो. राम गोपाल ने यह माना कि थोड़ी सी गलती जरूर हो गई है, मगर अब कोई नाराजगी नहीं है. अखिलेश की नाराजगी बस उन्हें जिस तरह से प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया गया वह एक बहुत ही गलत तरीका था और उनसे कहा जाता तो वे इस्तीफ़ा खुद ही दे देते.

राम गोपाल ने कहा कि नेताजी से बात करने के लिए अखिलेश हमेशा तैयार है,नेताजी ने सपा को जमीन से उठाकर बड़ी पार्टी बनाई नेताजी की सरलता का नाजायज फायदा उठाया गया.

रामगोपाल ने कहा कि लोगों की धारणा है कि अमर सिंह गलत कर रहे है, अमर सिंह समाजवादी पार्टी का अपमान करते हैं. और यादव परिवार में संकट की वजह अमर सिंह ही हैं. अमर सिंह का इंतजाम कार्यकर्ता कर देंगे.

मुख्यमंत्री का शिवपाल के प्रति पूरा सम्मान मुख्यमंत्री अखिलेश शिवपाल से नाराज नहीं, सीएम पहले भी नहीं नाराज थे. छोटे-छोटे मुद्दों को बड़ा बनाकर मतभेद कराया गया और शिवपाल की छवि खराब करने की कोशिश की गयी.

प्रो. रामगोपाल ने माना कि इस लड़ाई से पार्टी को नुकसान हुआ और हो रहा है मगर अमर सिंह की साजिश की नाकाम हो गई है , नेताजी और अखिलेश के पास फार्मूला है जो होगा बहुत ठीक होगा,दो दिन में संकट खत्म होगा.

उन्होंने कहा कि CM को शिवपाल को अध्यक्ष के तौर पर अब स्वीकार करना चाहिए, इससे अखिलेश कमजोर नहीं हो रहे है, अखिलेश के चेहरे पर चुनाव लड़ा जाएगा,पार्टी का हर आदमी अखिलेश को फेस बनाकर चुनाव लड़ेगा

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top