Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

योगी के मंत्री नीलकंठ पहुंच गए बनारस की बिटिया को देने ये सरप्राइज गिफ्ट

 Anurag Tiwari |  2017-04-18 07:31:00.0

योगी के मंत्री नीलकंठ पहुंच गए बनारस की बिटिया को देने ये सरप्राइज गिफ्ट

अनुराग तिवारी


वाराणसी.
काशी नगरी की एक बिटिया के लिए सोमवार का दिन सरप्राइज लेकर आया. सीएम योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में विधि, न्याय, खेल और युवा कल्याण राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी अचानक मानस नगर एक्सटेंशन कॉलोनी की लेन नंबर तीन में अपनी गाडी ड्राइव करते हुए पहुंचे. वे यहां ख़ास शख्स से मिलने पहुंचे थे.

सोमवार की सुबह आठ बज रहे थे और मानस नगर लेन नंबर तीन के निवासी अभी सुबह उठकर अपनी दिनचर्या में लगे थे कि अचानक गाड़ी आकर रूकती है. गाड़ी से मंत्री नीलकंठ तिवारी को उतरता देख सभी भौंचक्के रह गए. नीलकंठ तिवारी इसी लेन के एक मकान के गेटे के अंदर गए. यह मकान है समाजसेवी और दावा व्यवसायी ब्रिजेश चन्द्र पाठक का. मंत्री नीलकंठ तिवारी ने परिवार के सदस्यों से सुमेधा के बारे में पूछा और परिवार के सदस्यों के साथ सुमेधा के कमरे की तरफ बढ़ गए.


सुमेधा अपनी व्हील चेयर पर बैठी अपनी दिनचर्या में लगीं थीं. सुमेधा एक लगभग लाइलाज बीमारी से पीड़ित हैं, जिसकी वजह से कुछ साल पहले उनके स्पाइनल कॉर्ड में फ्रैक्चर हो गया था. तब से सुमेधा व्हील चेयर के सहारे ही अपने सारे काम करती हैं. बता दें कि सुमेधा ने साल 2016 में सीबीएसई के एग्जाम में दिव्यांग श्रेणी में पूरे देश में टॉप किया था. सुमेधा की इस उपलब्धि के लिए पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार ने उन्हें रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मनित किया था.

दरअसल नीलकंठ तिवारी को कहीं से जानकारी मिली थी कि सुमेधा के घर के आगे की गली में सड़क टूटी हुई है, जिसकी वजह से वे अपनी व्हील चेयर के सहारे बाहर निकल कर अपने आस-पड़ोस में रहने वाले दोस्तों के साथ मिलजुल नहीं पातीं. सुमेधा अक्सर व्हील चेयर पर बैठे-बैठे ही अपने घर के सामने की गली में बैडमिंटन भी खेला करती थीं. लेकिन इस बीच सड़क की हालत खराब हो जाने के चलते, वे बैडमिंटन नही खेल पा रहीं थीं. सुमेधा की इस परेशानी का जिक्र उनके पिता ब्रिजेश चन्द्र पाठक ने बातों-बातों में अपने जान पहचान वालों से किया था. वहीँ से यह बात वाराणसी शहर दक्षिणी के विधायक और मंत्री नीलकंठ तिवारी तक पहुंची. अपने वाराणसी दौरे पर पहुंचे नीलकंठ तिवारी ने सोमवार को अपना अन्य कोई काम करने से पहले सुमेधा से मुलकात का मन बनाया.

मंत्री न केवल सुमेधा से मिले बल्कि उसके हौसले की प्रशंसा भी और जब चलने लगे तो उन्होंने सुमेधा को बताया कि बिटिया तुम्हारे घर के सामने की सड़क का टेंडर पास करवा दिया है और जल्द ही ये सड़क अच्छी हो जाएगी ताकि तुम अपने दोस्तों से मिल सको और उनके साथ बैडमिंटन खेल सको. इस मुलाकत के दौरान मंत्री ने सुमेधा को भरोसा दिलाया कि उसको अपना करियर बनाने में जो भी मदद होगी वे करेंगे. इस दौरान सुमेधा ने उनसे अपनी तरह के बच्चों के प्रोत्साहन की बात मंत्री नीलकंठ से की. मंत्री ने भी सुमेधा की यह ख्वाहिश पूरी करने का पूरा भरोसा दिलाया.

सुमेधा के पिता ब्रिजेश चन्द्र पाठक का कहना है कि मंत्री नीलकंठ तिवारी की यह सादगी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है. उनका कहना है कि मंत्री के जनता के हित में काम करने वाली कार्यशैली की चर्चा तो मीडिया की सुर्खियाँ बनी ही हुई है लेकिन सोमवार को वे खुद इसके गवाह बने. उनके मुताबिक़ मंत्री का घर पर आना और सड़क की मरम्मत की जानकारी देना उनकी बेटी सुमेधा के लिए किसी सरप्राइज गिफ्ट से कम न था

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top