Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मायावती ने PM मोदी के आपराधिक चुप्पी पर उठाए सवाल

 Sonalika Azad |  2017-02-09 07:34:06.0

तहलका न्यूज़ ब्यूरो.


नई दिल्ली. बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नये-नये वायदे कर लोकसभा चुनाव की तरह फिर से जनता को बरग़लाने का प्रयास न करे. उन्होंने ये भी कहा कि नया वायदा करने से पहले अपनी वादाखिलाफी के लिये पीएम मोदी को आम जनता से माफी मंगनी चाहिए.साथ ही लोकपाल के मुद्दे पर मोदी की ख़ामोशी को अपराधिक चुपी बताते हुए दाल में बहुत कुछ काला होने की बात कही.


उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी ने सिर्फ जनता की आँखों में धूल झोंका है. पीएम मोदी ने 2014 के लोकसभा आमचुनाव में भी कई वादे किये थे , सत्ता में आने से पहले 100 दिन तो क्या आज लगभग 1,000 दिन (तीन साल) पूरे होने के बाद भी विदेशों से कालाधन लाकर देश के ग़रीबों को 15 से 20 लाख रूपये नहीं बाँटे गये हैं, बल्कि अब तो श्री मोदी की सरकार विदेशों में जमा कालाधन की चर्चा करने से भी भय खाती है.



इस दौरान मायावती ने भ्रष्टाचार से लड़ने के प्रधानमंत्री के दावे पर तंज कसते हुए कहा कि, लोकपाल के गठन के बारे में मोदी सरकार की आपराधिक चुप्पी यह साबित करती है कि दाल में जरूर बहुत कुछ काला है. साथ ही मोदी ने गुजरात में अपनी सरकार में लोकायुक्त का गठन नहीं होने दिया था, जबकि ये दोनों ही संस्थायें भ्रष्टाचार से प्रभावी ढंग से लड़ने के लिये कानूनी तौर से बनायी गयी हैं.



मायावती ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुये कहा कि खोखले वायदे और बयानबाजी की आदत है मोदी सरकार को, चुनाव के समय सपा सरकार को कोसने का कोई लाभ बीजेपी को मिलने वाला नहीं है, क्योंकि प्रदेश की जनता जानती है कि प्रदेश में लगातार जारी रहने वाली अराजक, आपराधिक, माफिया, जातिवादी व साम्प्रदायिकता के राज के लिये केन्द्र में पूर्व की रही कांग्रेसी सरकार की तरह वर्तमान बीजेपी की केन्द्र सरकार भी बराबर की जिम्मेदार व क़सूरवार भी है. इसने पिछले तीन वर्षों के केन्द्र में अपने शासनकाल में एक बार भी क़ानूनी तौर से सपा सरकार की कोई खबर नही ली और ना ही कोई चेतावनी/कार्रवाई ही की। इससे सपा-बीजेपी की आपसी मिलीभगत का भी पता चलता है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top