Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मिशन-2017 के लिए फिर निकलेगा राम जन्मभूमि का जिन्न

 Sabahat Vijeta |  2016-05-27 13:41:33.0

rammandir-proposedउत्कर्ष सिन्हा / शबाहत हुसैन विजेता


लखनऊ. मिशन-2017 को हर हाल में हासिल करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने राम मंदिर के जिन्न को एक बार फिर बोतल से बाहर निकालने का फैसला किया है. भाजपा 10 जून से राम जन्मभूमि अभियान को उत्तर प्रदेश में जोर-शोर से शुरू करने की तैयारियों में जुट गई है.


दरअसल 10 जून को राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष स्वर्गीय नृत्य गोपाल दास की जयन्ती का दिन है. भाजपा ने इस जयन्ती से ही अपने अभियान को शुरू करने का फैसला कर लिया है. इस मौके पर अयोध्या में होने वाले कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, यूपी भाजपा के अध्यक्ष केशव मौर्या सहित कई बड़े दिग्गज जुटेंगे.


कल सहारनपुर में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यूपी में 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा का 14 साल का बनवास खत्म होने की जो बात कही थी वह हवा-हवाई बात नहीं थी. भाजपा ने यूपी की सत्ता में वापसी के लिए काफी तैयारी की है. भाजपा समझ चुकी है कि यूपी की सत्ता में वापसी के लिए उसे हर हाल में राम मंदिर के नारे का उद्घोष करना ही होगा.


भाजपा ने इस बार राम जन्मभूमि आन्दोलन को पूरे सिस्टम से चलाने का फैसला किया है. हाल में हुए असम चुनाव में भाजपा ने जो रणनीति अपनाई थी उसी का वह उत्तर प्रदेश के चुनाव में भी इस्तेमाल करेगी. इस बात का खुलासा असम चुनाव के परिणाम निकलने के फ़ौरन बाद तहलका न्यूज़ ने किया था.


असम में चुनाव से पहले भाजपा ने पूरे राज्य में बिखरे पड़े छोटे-छोटे मत एक साथ जमा कर उन्हें ताक़त में बदल दिया था. वही असम चुनाव में उसकी जीत का टूल बना. यूपी में भी उसी टूल का इस्तेमाल होने जा रहा है. इसके लिए भाजपा छोटे-छोटे मंदिरों के पुजारियों को जोड़ेगी. इन मंदिरों में जयंतियों का आयोजन करेगी जिसका ज़िम्मा पुजारियों को ही सौंपेगी. इन मंदिरों में होने वाले आयोजन दिखावे में तो पुजारी के ज़रिये हो रहे होंगे लेकिन हकीकत में वह भाजपा के टूल होंगे जो पार्टी की मदद कर रहे होंगे.


उत्तर प्रदेश के छोटे-छोटे मंदिरों से राम मंदिर का बिगुल फूंक कर भाजपा 2017 के विधानसभा चुनाव तक यूपी को भगवा रंग में रंग डालने का हर संभव उपाय करेगी. राम मंदिर के नाम पर पहले भी केन्द्र और राज्य की सत्ता का मज़ा चख चुकी भाजपा को अच्छी तरह से पता है कि बार-बार राम मंदिर के नाम पर सत्ता हासिल नहीं हो सकती है लेकिन अगर प्रदेश के सभी छोटे-बड़े मंदिरों की श्रंखला तैयार कर ली जाए और हर मंदिर से जय श्रीराम का उद्घोष शुरू हो जाए तो राम के नाम पर फिर चमत्कार हो जाना भी कोई आश्चर्य नहीं है.


इसी चमत्कार की तैयारी का श्रीगणेश 10 जून को अयोध्या में हो जाएगा. केन्द्र सरकार के दो सालों की उपलब्धियां बताने के लिए यूपी में केन्द्रीय मंत्रियों के कार्यक्रम चल ही रहे हैं. 10 जून को अयोध्या में नृत्य गोपाल दास की जयन्ती पर भी डॉ. महेश शर्मा सहित कई मंत्री जुटेंगे. केन्द्र की दो साल की उपलब्धियां बताने के साथ-साथ भाजपा राम मंदिर अभियान शुरू करते हुए मिशन-2017 की तैयारियों की तरफ मुड जायेगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top