Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सियासत के नए समीकरण बनाएगी ओवैसी और तौकीर रजा की मुलाकात

 Vikas Tiwari |  2016-07-24 12:07:03.0

सियासत के नए समीकरण बनाएगी ओवैसी और तौकीर रजा की मुलाकात

बरेली. एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को बरेली पहुंच कर आईएमसी के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा से मुलाक़ात की है. इन दोनों नेताओं की मुलाकात तौकीर रजा के निवास पर हुई, जो लगभग आधे घंटे तक चली. इस मुलाकात के बाद सियासी गलियारों में इनके दलों के गठबंधन के चर्चाएं शुरू हो गई हैं.

मुलाकात के बाद ओवैसी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रदेश में चुनाव आने वाला हैं. किसी भी संभावना इनकार नहीं किया जा सकता. वहीं मौलाना तौकीर रजा का कहना है कि प्रदेश में सपा, बसपा और बीजेपी को छोड़कर किसी भी दल से गठबंधन कर सकते हैं. उन्होंने ये भी कहा कि प्रदेश में तमाम छोटे बड़े दलों से बात हो रही है. प्रदेश में भी बिहार मॉडल की तरह चुनाव लड़ेंगे जिससे प्रदेश में फिरकापरस्त ताकतों को आने से रोका जा सके.


पिछले चुनाव में तौकीर रजा की पार्टी आईएमसी को महज एक सीट पर सफलता मिली थी, मगर उसके उम्मीदवारों ने हर सीट पर कुछ वोट जरुर जुटाए थे. इस चुनाव में कुल दस सीटों पर आइएमसी ने उम्मीदवार उतारे थे. पार्टी बरेली की छह, शाहजहांपुर की एक तथा मुरादाबाद की तीन सीटों पर चुनाव लड़ी थी. इसमें बरेली की भोजीपुरा सीट से उम्मीदवार शहजिल इस्लाम 67 हजार वोट हासिल कर जीते. लेकिन बाद में सपा में शामिल हो गए. वहीं बिथरी चैनपुर सीट पर 31800 वोट पाकर तीसरे तथा कैंट सीट पर 32 हजार वोट पाकर दूसरे नंबर पर रही. मुरादाबाद की तीन सीटों पर 16 हजार, 24 हजार तथा 18 हजार वोट मिले थे.

अगर आगामी विधानसभा चुनाव में ओवेसी और मौलाना तौकीर रजा का कोई गठबंधन बनता है तो रूहेलखंड इलाके में सपा और बसपा की परेशानी बढ़ सकती हैं क्योकि दोनों ही दल मुस्लिम वोटरों को अपना मान कर चल रहे हैं. इस गठबंधन के बनने से सपा-बसपा के वोट बैंक में सेंध लग सकती है

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top