Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पुुराना दल बदलू है स्‍वामी, बसपा छोड़कर किया उपकार: मायावती

 Girish Tiwari |  2016-06-22 10:31:05.0



aaa2b7c8-b162-4357-8dd6-c50ef1332443

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ:
 बसपा प्रमुख मायावती ने स्वामी प्रसाद मौर्या के इस्तीफे के बाद कहा कि स्‍वामी प्रसाद मौर्या ने पार्टी छोडकर उपकार किया है। मायावती ने कहा कि स्‍वामी प्रसाद मौर्या पुराना दल बदलू है।

मायावती ने कहा कि अगर स्‍वामी प्रसाद मौर्या पार्टी न छोड़ते तो हम उनको पार्टी से निकालने ही वाले थे। मौर्या पहले भी मुलायम के साथ रह चुके हैं। उन्होंने कहा कि मौर्या को परिवादवाद का बहुत मोह है। हमने उनकी बेटी और बेटे दोनों को टिकट दिलाया था।


मायावती ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्या परिवारवादी नेता हैं। मायावती ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्या घर भर के लिए टिकट मांगता था। मायावती ने कहा कि स्‍वामी प्रसाद चुनाव हारा था फिर भी मैंने उसको एडजेस्ट किया। बार-बार मौका दिया फिर भी स्वामी प्रसाद नहीं सुधरा। मायावती ने कहा कि बीएसपी परिवारवाद को बढ़ावा देने वाली पार्टी नहीं है। मायावती ने कहा कि 2012 मे ही स्वामी के परिवार का टिकट काटने वाली थी। पार्टी के लोगों के कहने पर टिकट नहीं काटा था।

मायावती ने कहा कि कांशीराम ने पार्टी का उत्तराधिकारी मुझे बनाया। जब तक जिंदा हूं कांशीराम के सिद्धांत पर चलूंगी,परिवारवाद को बढ़ावा नहीं दूंगी। कांशीराम ने जिंदगी में कड़े फैसले लिए और परिवारवाद को बढ़ावा नहीं दिया।

मायावती ने कहा कि परिवारवाद के चक्कर में स्वामी प्रसाद पार्टी से बाहर गया है। उन्‍होंने कहा कि पार्टी छोड़ने के बाद लोग मुझेे दौलत की बेटी बताते हैं। माया के पास माया की कोई कमी नहीं। मायावती ने कहा कि पैदा हुई थी तभी मां और बाप ने नाम माया रखा था। कार्यकर्ताओं ने धन की कोई कमी नहीं होने दी।

मायावती ने कहा कि स्वामी प्रसाद बताए कितना पैसा बीएसपी को दिया। घर भर चुनाव लड़े हैं मौर्या बताए कितना रुपया दिया। मायावती ने कहा कि सरकार नही आई उसके बाद स्वामी को नेता विपक्ष बनाया,विधानसभा मे नेता विपक्ष का बड़ा ओहदा स्वामी को दिया। मायावती ने कहा कि लड़का,लड़की को टिकट देने से मना करने पर स्वामी ने पार्टी छोड़ी।

मायावती ने कहा कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते कई विधायक निकाले। कुछ विधायकों को परिवारवाद के चलते बाहर निकाला।

बताते चले कि बुधवार को स्वामी प्रसाद मौर्या ने बसपा सुप्रीमों मायावती पर गंभीर आरोप लगाते हुए बहुजन समाजवादी पार्टी का साथ छोड़ दिया है। मौर्या ने मायावती पर अंबेडकर के सपनों और विधानसभा में टिकट बेचने का आरोप लगाया है। मौर्या ने कहा है कि मायावती ने अम्बेडकर के सपनों को बेचा है।


मौर्या ने तीखे स्वर में कहा कि मायावती सिर्फ लोगों को दिखाने के लिए अम्बेडकर जयंती मनाती हैं। वह दलितों की जरा भी सुध नहीं ले रही हैं। वह केवल दलितों के सपने पर कालिख पोत रही हैं। वह केवल टिकट बेच रही है। टिकट में सौदेबाजी की वजह से बसपा 2012 में चुनाव हारी थी। साल 2017 में होने वाले चुनाव में भी बसपा हारेगी।

मौर्या ने कहा कि उन्हों पार्टी में रहकर घुटन महसूस हो रही थी इसलिए इस्तीफा दे दिया। सूत्रों के मुताबिक स्वामी प्रसाद मौर्या जल्द ही सपा में शामिल हो सकते हैं। सााथ ही आने वाली 27 तारीख को अखिलेश यादव के मंत्रिमंडल में शपथ भी ग्रहण कर सकते हैं।

  Similar Posts

Share it
Top