Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मायावती ने अमित शाह से पूछा, इतने गुजराती मुम्बई में क्यों बस गए

 Sabahat Vijeta |  2016-10-27 16:13:06.0

mayawati


लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा उत्तर प्रदेश के लोगों को कल्याण सिंह जैसी सरकार देने का वायदा करने की तीखी आलोचना करते हुये कहा कि मुख्यमंत्री के तौर पर असंवैधानिक व सुप्रीम कोर्ट की अवमानना की वजह से बर्खास्त होने वाले सजायाफ्ता व्यक्ति कल्याण सिंह की जैसी सरकार देने की बात कर शाह ने उत्तर प्रदेश की 22 करोड़ जनता का अपमान किया है. यह भाजपा नेतृत्व के दीवालियेपन और उनके पास कोई अच्छा उम्मीदवार न होने का उदाहरण है.


मायावती ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार में देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं और जिन प्रदेशों में भाजपा की सरकार है वहां की हालत बहुत खराब है. पूरे देश के लोग अब यह बात समझ रहे हैं कि भाजपा की बातें सिवाय छलावा के कुछ भी नहीं हैं.


मायावती ने कहा कि बसपा कभी भी यूपीए की सरकार में शामिल नहीं रही है बल्कि भाजपा जैसी घोर साम्प्रदायिक शक्तियों को केन्द्र की सत्ता से दूर रखने के प्रयास में ही यू.पी.ए. को केवल बाहर से समर्थन दिया हुआ था. उन्होंने कहा कि यू.पी.ए. सरकार की गड़बडि़यों व भ्रष्टाचार की वजह से देश की आमजनता ने कांग्रेस पार्टी को सत्ता से बाहर करके उसे उसके किये गये कृत्यों की जबर्दस्त सज़ा दे दी है, जिसके फलस्वरूप ही भाजपा आज केन्द्र की सत्ता में हैं. परन्तु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार का भी रवैया, उसके पिछले ढाई साल का कार्यकाल के कांग्रेस पार्टी जैसा ही ग़लत व जनविरोधी रहा है. इस कारण भाजपा को भी अपने बुरे दिन के लिये तैयार हो जाना चाहिये.


मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश का आज जो बुरा हाल है उसके लिये भाजपा व केन्द्र की उसकी सरकार भी कम दोषी नहीं है. पिछले ढाई साल के दौरान यहाँ के लोगों की ग़रीबी, बेरोज़गारी दूर करने व मजबूरी में पलायन को रोकने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने क्या ठोस व बुनियादी काम किये हैं, इसका भी उन्हें जवाब देना होगा. साथ ही अमित शाह को यह भी बताना चाहिये कि गुजरात राज्य से पलायन करके काफी ज्यादा गुजरात के लोग क्यों मुम्बई में जाकर बस गये हैं?


जहाँ तक उत्तर प्रदेश में बी.एस.पी. के शासनकाल की बात है तो उस दौरान अनेकों बड़े निर्माण कार्यो के कारण यहाँ प्रदेश में रोजगार के इतने ज्यादा अवसर पैदा हो गये थे कि दूसरे प्रदेशों के लोग यहाँ आकर काम करने लगे थे. इसलिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को खासकर बी.एस.पी. के बारे में कुछ भी बोलने से पहले सही तथ्यों की जानकारी ज़रूर कर लेनी चाहिये.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top