Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

शहीद की विधवा ने किया आत्मदाह का प्रयास

 Abhishek Tripathi |  2016-06-27 14:36:31.0

a1तहलका न्यूज़ ब्यूरो
मथुरा. भारतीय-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) के शहीद जवान की पत्नी और बेटे ने सोमवार को डीएम कार्यालय में खुद पर मिट्टी का तेल उड़ेल आत्मदाह की कोशिश की। लोगों ने मां-बेटे को जैसे-तैसे काबू किया। महिला के साथ दूसरा बेटा भी इस दौरान मौजूद था। महिला की व्यथा थी कि शहीद पति के स्मारक स्थल पर अतिक्रमण किया जा रहा है। विरोध करने पर उनके साथ मारपीट और गाली-गलौज की गई।


थाना मगोर्रा क्षेत्र के गांव मकहेरा निवासी विमला देवी अपने पुत्र दीपक (32) और रमेश (21) के साथ दोपहर में डीएम कार्यालय आई थीं। डीएम निखिल चंद्र शुक्ला उस दौरान बाहर गए थे। डिप्टी कलक्टर सदानंद गुप्ता को विमला देवी ने बताया कि उनके पति सुग्रीव सिंह आइटीबीपी में थे। मध्य प्रदेश के जिला शिवपुरी के करहेरा में 22 नवंबर 2014 को माओवादियों से लड़ते समय शहीद हो गए थे।


प्रशासन ने उस समय ग्राम सभा की भूमि पर समाधि स्थल और उनके पति की प्रतिमा लगवाने की घोषणा की थी। उसी भूमि की चारदीवारी कराने के लिए विमला देवी ने दस हजार ईंटें अपने खर्चे पर मंगवाई थीं। विमला का आरोप है कि 30 मई 2016 को गांव के ही बहादुर सिंह और प्रेम सिंह ने राष्ट्रीय ध्वज को फाड़ दिया और शहीद का बोर्ड भी तोड़ डाला। ईंटों को उठाकर ले जा रहे हैं।


विरोध करने पर आरोपियों ने उसके साथ गाली-गाली-गलौज और मारपीट की। पुलिस में शिकायत के बाद भी न्याय न मिलने पर वे यहां आई हैं। इसी बीच महिला और उसके बेटे रमेश ने बोतल निकालकर अपने ऊपर मिट्टी का तेल उड़ेल लिया। वहां मौजूद लोगों ने लोगों ने किसी तरह उन पर काबू किया। डिप्टी कलक्टर ने पुलिस बुलाकर सुपुर्द कर दिया। बाद में तीनों को छोड़ दिया गया। जिलाधिकारी का कहना है कि मामले की जांच कराएंगे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top