Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पत्रकारों के नये वेज बोर्ड के लिए दिल्ली में रैली की तैयारी

 Sabahat Vijeta |  2016-07-28 13:15:05.0

ifwj


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


नई दिल्ली. मजीठिया वेज बोर्ड को लागू कराने की लड़ाई लड़ते हुए श्रमजीवी पत्रकारों के लिए एक नये वेज बोर्ड के गठन की मांग को लेकर देश के सभी पत्रकार संगठनों का कान्फेडरेशन अब आन्दोलन की तैयारियों में जुट गया है. सभी समाचार पत्रों और संवाद समितियों में मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों को लागू कराने और नये वेज बोर्ड की मांग को लेकर कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ न्यूज़ पेपर एन्ड न्यूज़ एजेंसी इम्प्लाइज यूनियंस जल्दी ही दिल्ली में एक विशाल रैली का आयोजन करेगा. इस रैली में पत्रकारों की सुरक्षा का मुद्दा भी प्रमुखता से उठाया जाएगा. उधर, उत्तर प्रदेश सहित 5 राज्यों के श्रम आयुक्तों को सुप्रीम कोर्ट ने मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के मुद्दे पर तलब किया है.


ifwj-1


यह फैसला पी.टी.आई. फेडरेशन के दफ्तर में हुई कॉन्फ़ेडरेशन की बैठक में सर्वसम्मति से लिया गया. इस बैठक में पूरे देश के पत्रकारों एवं गैर-पत्रकारों से आह्वान किया गया है कि वे इस रैली में शामिल हों. रैली कि तारीख कॉन्फ़ेडरेशन के अन्य नेताओं से विचार-विमर्श के बाद सूचित की जाएगी.


ifwj-3


कॉन्फ़ेडरेशन देश भर के सभी समाचार पत्रों एवं संवाद समितियों में काम करने वाले कर्मचारियों की यूनियनों एवं फेडरेशनों का एक शीर्ष संगठन है. इसी के नेतृत्व में मजीठिया वेज बोर्ड कि लड़ाई लड़ी गई थी, जिसका लाभ तमाम समाचार पत्र कर्मियों को मिल रहा है. जो इस लाभ से वंचित रह गए हैं उनके लिए संघर्ष की रूपरेखा तैयार की जा रही है.


बैठक में कुछ स्वयंभू नेताओं द्वारा पत्रकारों एवं गैर-पत्रकाओं की एकता को तोड़ने के प्रयासों कि निंदा की गयी, जो अपने स्वार्थपूर्ति के लिए मालिकों के इशारे पर मजदूर हितों पर कुठाराघात कर रहे हैं. कर्मचारियों से अपील की गयी है कि विषनाग की तरह कुंडली मारे ऐसे नेताओं को वे बाहर का रास्ता दिखाएं. बैठक में आईएफडब्ल्यूजे के पूर्व अध्यक्ष के विक्रम राव द्वारा पत्रकार हितों के लिये संघर्ष में शामिल होने के बजाये पत्रकार हितों के लिये संघर्ष करने वालों का विरोध करने के लिये कड़ी निन्दा की गई.


ifwj-2


आई.एफ.डब्लू.जे. के उपाध्यक्ष हेमंत तिवारी ने प्रस्ताव किया कि कॉन्फ़ेडरेशन का एक सम्मेलन उत्तर प्रदेश में आयोजित होना चाहिए जिससे प्रदेश के बड़े अख़बार मालिकों के साथ-साथ सरकार को भी यह चेतावनी और संदेश दिया जा सके कि कर्मचारी अब चुप बैठने वाले नहीं हैं.


बैठक में कॉन्फ़ेडरेशन के महासचिव एम. एस. यादव के अलावा श्री त्यागी, श्री वर्मा, राजवीर, मेहरुद्दीन (पी.टी.आई. फेडरेशन), परमानन्द पांडेय, हेमंत तिवारी, रिंकू यादव (आई.एफ.डब्लू.जे.), एस. एन. सिन्हा, सुश्री सबीना इंद्रजीत (आई.जे.यू.), के. बी. पंडित, मदन सिंह (आई.जे.यू.), राजेंद्र प्रभु, मनोहर सिंह (एन.यू.जे.) सुश्री सुजाता मधोक, एस. के. पांडे (डी.यू.जे.), एम.एल. जोशी (यू.एन.आई. एम्प्लाइज फेडरेशन), रूपचंद एवं अन्य साथी (टाइम्स ऑफ़ इंडिया), अखिलेश एवं अन्य साथी (हिंदुस्तान टाइम्स), श्री नायडू, नन्द किशोर (इंडियन एक्सप्रेस) के आलावा दैनिक जागरण एम्प्लाइज यूनियन और अन्य यूनियनों के कामरेड्स शामिल हुए.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top