Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आधी आबादी को समर्पित होगा गागर में सागर

 Sabahat Vijeta |  2016-10-07 12:47:27.0

lko-book-fair
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. राजधानी के मोतीमहल लान में 14 से 23 अक्टूबर तक होने वाला राष्ट्रीय पुस्तक मेला “गागर में सागर” आधी आबादी यानि स्त्री शक्ति को समर्पित होगा. नालेज हब के इस अभिनव आयोजन के उदघाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पुलिस महिला सम्मान प्रकोष्ठ की महानिदेशक सुश्री सुतापा सान्याल भी मौजूद रहेंगी. बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती जूही सिंह भी विशेष रूप से आमंत्रित हैं. पुस्तक मेले में दिल्ली के गौरव का दाना पानी ग्रुप पुस्तक मेले में पर्यावरण और चिड़ियों के प्रति जागरूकता लाने का प्रयास करेगा. गौरव ने बताया कि पर्यावरण के क्षेत्र में काम करने वालों का सम्मान भी किया जाएगा.


गागर में सागर के विषय में पत्रकारों को जानकारी देते हुए आयोजक देवराज अरोड़ा ने बताया कि पुस्तक मेलों के ज़रिये पुस्तक संस्कृति को प्रोत्साहित करने की कोशिश है गागर में सागर. उन्होंने बताया कि इस आयोजन में छोटे और बड़े प्रकाशक दोनों का समागम होगा. उन्होंने बताया कि अगले चरणों में जिला मुख्यालयों और फिर ब्लाक स्तर पर गागर में सागर पुस्तक मेलों का आयोजन किया जायेगा. इन मेलों को प्रशासन, ब्लाक प्रमुख, ग्राम प्रधानों आदि के सहयोग से लगाने का प्रयास किया जायेगा.


नालेज हब द्वारा नारी शक्ति को नमन करते हुए साहित्यकार शिरोमणि सम्मान-2016 से वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती स्वरूप कुमारी बक्शी को सम्मानित किया जायेगा. इसी क्रम साहित्य के साथ-साथ समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली अन्य दस महिलाओं को शतरूपा सागर सम्मान-2016 से भी सम्मानित किया जायेगा. श्री अरोड़ा ने बताया कि गागर में सागर मेले में प्रथम बुक्स दीपशिखा प्रकाशन, बोधि प्रकाशन, इण्डियन मैप सर्विस, सस्ता साहित्य मंडल, केन्द्रीय ललित कला अकादमी, वाओ पब्लिकेशन, जैसे नये प्रतिभागी आ रहे हैं. इसके अतिरिक्त किताबघर, डायमण्ड, राजपाल एण्ड संस, हिन्द पाकेट बुक्स, पी.एम. पब्लिकेशन, वाणी प्रकाशन, साहित्य भण्डार, पुस्तक महल, यूनिकार्न, राजा बुक पाकेट, तिरुमाला साफ्टवेयर, स्कालर हब, ग्रालियर, अमन प्रकाशन, ओशो, साहनी डिक्शनरी, हिन्दी माध्यम कार्यान्वयन दिल्ली विश्वविद्यालय, योगा इस्टीट्यूट गाजियाबाद, निखिल पब्लिशर्स, संत निरंकारी मण्डल, साहित्य भण्डार आगरा, गिडसन, मंजुल प्रकाशन, प्रभात प्रकाशन आदि मौजूद रहेंगे. वाग्देवी प्रकाशन, जनचेतना, हिन्दी युग्म, एकलव्य प्रकाशन आदि से बात चल रही है.


उन्होंने बताया कि साहित्यिक कार्यक्रमों की शृंखला में पुस्तकों के लोकार्पण, संगोष्ठी, विचार गोष्ठी का आयोजन, काव्य गोष्ठी, कवि सम्मेलन, मुशायरा नियमित आयोजित होंगे. इस अवसर पर वरिष्ठ साहित्यकार शिवमूर्ति, महेन्द्र भीष्म, डा. अमिता दुबे सहित वैष्णवी अवस्थी, अर्चना प्रकाश, शीला शर्मा, वी.सी. राय, अजय अग्रवाल आदि की पुस्तकों के लोकार्पण होंगे. विशिष्ट कार्यक्रमों में साहित्यकार शिरोमणि सम्मान एवं शतरूपा सम्मान सहित मुद्रा राक्षस, मलिक जादा मंजूर अहमद की स्मृति में मुशायरा सम्मिलित है.


अध्यात्मिक विचारधारा और युवा विषय पर गम्भीर चर्चा और निरंकारी सत्संग का भी आयोजन है. पुस्तक मेले में स्थानीय लेखकों के लिए अलग से निःशुल्क स्टाल की व्यवस्था है. जिसमें पुस्तकों के प्रदर्शन व बिक्री के लिए व्यवस्था रहेगी.


बच्चों की प्रतियोगिता संयोजक ज्योति किरन रतन ने बताया कि 15 अक्टूबर से नित्य डांस, ड्राइंग, गायन, बेबी शो, फैंसी ड्रेस, श्लोक वाचन, काव्य पाठ, अंताक्षरी, शंख वादन, क्विज आदि की प्रतियोगिताएँ बाल व नवयुवा के लिए अलग से तैयार मंच पर नित्य 03 बजे से होंगे. उन्होंने बताया कि इस बार बच्चों का कवि सम्मलेन और मुशायरा भी आयोजित किया जाएगा. कुछ बच्चे संस्कृत में भी कविता सुनायेंगे. उन्होंने बताया कि इस बार पुस्तक मेले में बच्चों को न्यूज़ पेपर से कपड़े बनाना सिखाया जाएगा.


गागर में सागर में इस बार मीडिया फोटोग्राफर क्लब की तरफ से लगने वाली फोटो प्रदर्शनी में स्लाइड शो के ज़रिये तस्वीरों का पर्दर्शन किया जायेगा. आयोजक एसएम पारी ने बताया कि पुस्तक मेले में अब हर साल ग्यारह फोटोग्राफरों को सम्मानित किया जायेगा.


इस मौके पर पत्रकारों को पुस्तक मेले के बारे में सर्वेश अस्थाना, पुस्तक मेले के संरक्षक मुरलीधर आहूजा, राजकुमार छाबड़ा, विनोद मिश्र और डॉ. अमिता दुबे ने भी अपने विचार व्यक्त किये.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top