Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

लोहिया और दीनदयाल उपाध्याय ने भारत को नये विचार दिये

 Sabahat Vijeta |  2016-09-25 13:39:34.0

gov-deendayal


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के शताब्दी वर्ष पर दीनदयाल वाटिका जाकर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किये। इस अवसर पर पूर्व सांसद लालजी टण्डन, पूर्व विधायक सुरेश श्रीवास्तव, विधायक गोपाल टण्डन व अन्य विशिष्टजन उपस्थित थे।


राज्यपाल ने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने के बाद कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय के जीवन पर, कार्य पर, उनके विचारों पर विचार करने का संकल्प लेने की आवश्यकता है। पं. दीनदयाल ने मात्र 52 वर्ष की आयु में जिस प्रकार भारतीय जनसंघ का नेतृत्व किया, वह अनुकरणीय भी है और स्मरणीय भी है। अपने व्यवहार और विचार के आधार पर उन्होंने जो संगठन बनाया एक दृष्टि से भारत के राजनैतिक लोगों को भी आश्चर्य में डालने वाली बात थी। उत्तर प्रदेश ने राजनैतिक विचार करने वाले दो महान व्यक्ति दिये। एक डाॅ. राम मनोहर लोहिया तथा दूसरे पं. दीनदयाल उपाध्याय। दोनों ने भारत को नये विचार दिये। दोनों ही बड़ी सहजता से विचारों का आदान-प्रदान करते थे। उन्होंने कहा कि आज की राजनैतिक अस्पृश्यता और राजनैतिक कार्यपद्धति में डाॅ. राम मनोहर लोहिया तथा पं. दीनदयाल उपाध्याय का अनुकरण करने की आवश्यकता है।


श्री नाईक ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय ने एकात्म मानववाद का विचार उस समय दिया जब पूंजीवादी और साम्यवादी विचारधारा देश पर हावी थी। उनके विचारों के पीछे हजारों साल पहले की भारतीय संस्कृति भी प्रकट होती थी। पं. दीनदयाल ने बताया कि छोटी-छोटी बातों पर विचार करके और छोटे-छोटे काम करके समाज सेवा हो सकती है। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल ने आग्रह किया था कि चरित्र स्वच्छ होना चाहिए एवं विचार साफ होने चाहिए।


राज्यपाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विधान सभा के चुनाव कुछ समय बाद होने वाले हैं। संविधान द्वारा 18 वर्ष आयु के सभी व्यक्तियों को मतदान का अधिकार प्राप्त है। अतः मतदाता सूची में अपना नामांकन करवाकर लोकतंत्र को मजबूत करने का काम करें। राज्यपाल ने पं. दीनदयाल द्वारा केरल के अधिवेशन में दिये गये भाषण के कुछ अंश को पढ़कर सुनाया। उन्होंने कहा कि उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम यह संकल्प लें कि पं. दीनदयाल के अंत्योदय की विचारधारा को कैसे सफल बनाया जा सकता है।


इस अवसर पर पूर्व सांसद लालजी टण्डन सहित अन्य लोगों ने भी अपने विचार रखे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top