Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

लखनऊ मेट्रो जल्द सौंप सकती है कानपुर तक के लिए RRTS प्रोजेक्ट प्रपोजल

 Anurag Tiwari |  2016-06-22 13:07:42.0

[caption id="attachment_90767" align="aligncenter" width="1024"]LMRC, Lucknow Metro , RRTS, Rapid Rail Transit System, E Sreedharan, Kumar Keshav, Varanasi Metro, Kanpur Metro, RRTS का प्रतीकात्मक चित्र[/caption]

तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रधान सलाहकार ई श्रीधरन की मानें तो जल्द ही एलएमआरसी कानुपर और लखनऊ बीच रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) का प्रोजेक्ट प्रपोजल यूपी सरकार को सौंप सकती है। बुधवार को श्रीधरन लखनऊ मेट्रो के काम की समीक्षा करने लखनऊ पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि लखनऊ और कानपुर के बीच मेट्रो तो नहीं चलाई जा सकती, इन दोनों शहरों के बीच RRTS प्रोजेक्ट पर काम किया जा सकता है। इससे रोजाना अप-डाउन करने वालों को जल्दी ही ट्रेन और बाई-रोड ट्रेवल के दौरान होने वाली परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा।खा बात यह है कि इससे दोनों शहरों के बीच ट्रेवल करने का समय माहज 30 मिनट रह जाएगा।


यूपी सरकार जल्द बना सकती है कमेटी

श्रीधरन ने बताया कि काफी दिनों से इन दोनों शहरों के बीच मेट्रो चलाने की मांग उठ रही थी, जो कि प्रिंसिपली संभव ही नहीं है। लेकिन आरआरटीएस के जरिए यह मांग जल्द ही पूरी हो जाएगी। अगर यूपी सरकार से जुड़े सूत्रों की मानें तो आरआरटीएस की स्टडी के लिए यूपी सरकार ने कमेटी बनाने का फैसला ले चुकी है। जल्दी ही इस कमिटी का गठन कर इन दोनों शहरों के बीच आरआरटीएस प्रोजेक्ट को मूओर्ट रूप देने की संभावनाओं को तलाशा जाएगा।

क्या हैं संभावनाएं?

कानपुर से लखनऊ के बीच आरआरटीएस सिस्टम बनाए जाने पर इसे दोनों शहरों के मेट्रो से जोड़ा जाएगा। लखनऊ में इसे सरोजिनीनगर तो कानपुर में इसे गंगा बैराज मेट्रो स्टेशन से जोड़ा जाएगा। यह दोनों मेट्रो स्टेशन दोनों शहरों के बीच एंट्री और एग्जिट प्वाइंट बन सकते हैं। श्रीधरन ने बताया कि आरआरटीएस के लिए दोनों शहरों के बीच एक डेडिकेटेड कॉरिडोर बनाना होगा ताकि ट्रेनों के चलने पर किसी तरह का अवरोध न उत्पन्न हो।

120-160 Kmph  के बीच होगी स्पीड

श्रीधरन ने बताया कि दोनों शहरों के बीच आरआरटीएस बन जाने के बाद लोग इससे 120-160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेवल कर सकेंगे। आरआरटीएस के तैयार होने पर दोनों शहरों के बीच की दूरी महज 30-45 मिनट में तय की जा सकेगी।  आरआरटीएस इससे दोनों शहरों के बीच चलने वाली ट्रेनों और रोडवेज की बसों पर से भार हल्का होगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top