Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

IAS की पत्नियों ने खोले राज, कैसे कैसे होती है सिफारिशे

 2016-12-17 08:52:45.0

ias-week-ledies

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में चल रहे आईएएस वीक के दौरान आईएएस अफसरों की पत्नियों ने इशारो इशारो में कई राज खोल डाले. एक नाटक के जरिए इन बीबियों ने बताया कि जिले में प्राईम पोस्टिंग पाने के लिए मातहत PCS अफसर क्या क्या नहीं करते ?

यह नाटक एसडीएम नं. 1 का एक दृश्य..... “तुम एक काम करो, मेरे साथ चलकर ज़रा मैडम डीएम को थोड़ा मक्खन लगाओ..और हां, उनके कुत्ते की तारीफ भी कर देना..वो खुश हो जाएंगी और मुझे एसडीएम सदर बनवा देंगी...एक एसडीएम साहब अपनी पत्नी को कुछ इसी तरह समझा रहे थे ताकि उन्हें अच्छी जगह पोस्टिंग मिल जाए.


आईएएस अरुण सिन्हा की पत्नी अंजू सिन्हा द्वारा लिखित व निर्देशित इस नाटक एसडीएम नं. 1 में चितवन वर्मा, अचला कुमार, सलोनी गोयल, सुष्मिता राव ने बेहतरीन अभिनय किया.

आईएएस वीक में लेडिज डिनर के अवसर पर हलकी फुलकी चुटकियाँ भी ली गयी. मशहूर गायिका और शायरा डा. मालविका हरिओम और प्रीति चौधरी के संचालन में सीएसआई क्लब में यह खूबसूरत शाम सजाई गई थी.

भरतनाट्यम की प्रस्तुति से इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई. उसके बाद हिमजा लू ने “मैं नाचूं आज छम छम..” गीत पर नृत्य प्रस्तुत किया. आईएएस गौरव दयाल की पत्नी व आईआरएस अधिकारी वृन्दा दयाल ने “...गरज बरस प्यासी धरती पर फिर पानी दे मौला..” गीत प्रस्तुत किया. देर रात तक चले कार्यक्रम में सबसे आकर्षक थी जवाबी कव्वाली. मालविका हरिओम के संयोजन में हुई कव्वाली में अफसर एक तरफ थे और उनकी पत्नियां दूसरी तरफ.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top