Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PM के संसदीय क्षेत्र से कि‍डनैप बच्चा नोटों के अकाल में बिना फिरौती के छुटा

 Vikas Tiwari |  2016-11-14 13:48:28.0

varanasi

तहलका न्यूज़ ब्यूरो 

वाराणसी. नोटबंदी के बाद देश भर से अजीबों-गरीब घटनाएं सामने आ रही है. कही नोटों को कूड़े के ढेर के पास छोड़ा जा रहा है तो कही नदी में फेका जा रहा है. लेकिन वाराणसी में एक अलग ही मामला सामने आया है. जहाँ कुछ  बदमाशों ने एक बच्चे का अपाहरण किया था लेकिन नोट बंदी की खबर के बाद  अपहरणकर्ताओं ने बिना पैसे लिए ही बच्चे को छोड़ दिया.

यह है पूरा मामला...

वाराणसी में रहने वाले पूर्व प्रधानाचार्य मंगला प्रसाद मिश्रा का 14 साल का पोता संकल्प मिश्रा 9वीं कक्षा में पढ़ता है. उसके पिता देवेंद्र मि‍श्रा दवा व्‍यापारी हैं. 8 नवंबर की शाम संकल्प साइकिल से अपने दोस्त के घर जा रहा था. रास्ते में कार सवार कुछ लोगों ने पता पूछने के बहाने उसको पास बुलाया. संकल्प जैसे ही गाड़ी के पास पहुंचा, उन लोगों ने संकल्प को कार में खिंचकर जबरन बैठा लिया. उसकी नाक पर रूमाल रख दिया. इसके बाद वह बेहोश हो गया. होश आने पर उसने देखा कि‍ उसके साथ

कि‍डनैप कि‍ए गए और भी लड़के मौजूद हैं. अपहरणकर्ताओं ने उनको खाने को भी नहीं दिया. भूख लगने पर केवल पानी पिलाते थे. लेकिन अचानक 13 नवंबर को अपहरणकर्ताओं ने उन्हें छोड़ दिया.

परिजनों का कहना है कि‍ उन लोगों ने तुरंत भेलूपुर थाने में शि‍कायत दर्ज कराई, लेकिन पुलिस ने संकल्प की तलाशी में कोई मदद नहीं की. 13 नवंबर को सुबह अपहरणकर्ताओं ने फतेहपुर जिले के बाईपास पर संकल्प को छोड़ दिया. इसके बाद वह अपने घर पहुंचा. परिजनों को यकीन ही नहीं हो रहा था कि वो सामने है. उसके परिजनों ने कहा कि उनका बेटा सकुशल वापस आ गया.

.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top