Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

तीन तलाक़ से पीड़ित महिलाओं की रानी लक्ष्मी बाई कोष से मदद करेगी यूपी की योगी सरकार

 shabahat |  2017-04-19 13:02:29.0

तीन तलाक़ से पीड़ित महिलाओं की रानी लक्ष्मी बाई कोष से मदद करेगी यूपी की योगी सरकार

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. योगी आदित्यनाथ की सरकार ने तीन तलाक़ से पीड़ित महिलाओं की मदद करने का फैसला किया है. उत्तर प्रदेश की महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने बुद्धवार को योजना भवन में सम्बंधित मंत्रियों, स्वयं सेवी संस्थाओं और मुस्लिम महिलाओं के साथ बैठक की. इस बैठक में रीता बहुगुणा जोशी ने यह जानकारी दी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह फैसला किया है कि सभी धर्म की महिलाओं के लिये रानी लक्ष्मी बाई कोष खोला जायेगा. रानी लक्ष्मी बाई योजना के तहत मुस्लिम महिलाओं को मदद मिलेगी.

तीन तलाक मुद्दे पर आल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने भी स्पष्ट कर दिया है कि एक बार में तीन तलाक़ बहुत गलत परम्परा है और इसे हर हाल में रुकना चाहिए. बोर्ड ने यहाँ तक कहा कि जो व्यक्ति अपनी पत्नी को तीन तलाक दे उसका सामजिक बहिष्कार किया जाए और शहर की मस्जिदों से उस व्यक्ति का नाम लेकर यह एलान किया जाए कि इस व्यक्ति ने अपनी पत्नी को तीन तलाक देने का गुनाह किया है इसलिए इस व्यक्ति से कोई संपर्क नहीं रखा जाये.

तीन तलाक़ मुद्दे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कहा था कि इस मुद्दे पर जो लोग अपनी ज़बान बंद रखे हैं वह भी बराबर के दोषी हैं. उन्होंने तीन तलाक़ की तुलना द्रौपदी के चीर हरण से की. उन्होंने कहा कि जिस तरह से द्रौपदी के चीर हरण के समय दरबार में उपस्थित सभी लोग बराबर के ज़िम्मेदार थे उसी तरह से तीन तलाक़ मुद्दे पर खामोश रहने वाले भी बराबर के दोषी हैं.

बुद्धवार को योजना भवन में आयोजित बैठक में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि तीन तलाक़ की परम्परा दुनिया के 22 देशों में नहीं है. फिर आखिर हिन्दुस्तान में ही यह व्यवस्था क्यों है. उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिये यह अन्यायपूर्ण व्यवस्था है. उन्होंने कहा कि सरकार इस सम्बन्ध में मुस्लिम महिलाओं से जनमत संग्रह करायेगी और इसे सुप्रीम कोर्ट में रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि मुस्लिम महिलाओं के लिये तीन तलाक की व्यवस्था अन्यायपूर्ण और गलत है. यह मानवाधिकार का विरोध है.

उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रज़ा ने कहा कि तीन तलाक़ पर क़ानून बनना चाहिए और औरतों को उनका अधिकार मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि तीन तलाक़ शरीयत का हिस्सा नहीं है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top