Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जयललिता की रियासत के लिये सियासत में जा सकते हैं रजनीकांत

 shabahat |  2017-02-10 16:35:29.0

जयललिता की रियासत के लिये सियासत में जा सकते हैं रजनीकांत


नई दिल्ली. दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपर स्टार रजनीकांत बहुत जल्दी फिल्मों की रुपहली दुनिया से राजनीति की पथरीली राह पर नज़र अ सकते हैं. तमिलनाडु में चल रहे राजनीतिक संकट के दौर में रजनीकांत ने अपनी राजनीतिक पार्टी गठित करने का फैसला किया है. भारतीय जनता पार्टी रजनीकांत की मदद के बहाने दक्षिण भारत में अपनी पहुँच बनाने की कोशिश करेगी.

सूत्र बताते हैं कि आरएसएस के विचारक एस. गुरुमूर्ति रजनीकांत को नई पार्टी बनाने के लिये प्रेरित कर रहे हैं. यह माना जा रहा है कि मौजूदा समय में सिर्फ रजनीकांत ही ऐसे शख्स हैं जो तमिलनाडू की राजनीति को प्रभावित कर सकते हैं. रजनीकांत को दक्षिण भारत में बहुत सम्मान प्राप्त है और हर वर्ग और हर उम्र के लोगों के मन में उनके लिये प्यार है. यह माना जा रहा है कि रजनीकांत अगर राजनीति में आते हैं तो तमिलनाडू में एक बड़ी ताक़त बनकर उभरेंगे.

बताया जाता है कि रजनीकांत की निजी तौर पर राजनीति में आने की इच्छा नहीं है लेकिन संघ और बीजेपी उन्हें इसलिये प्रेरित कर रहे हैं ताकि वह जयललिता के निधन से खाली हुई जगह को भर सकें और उसका पूरा लाभ बीजेपी को हासिल हो जाये. तमिलनाडू में रजनीकांत ही ऐसे शख्स हैं जिनकी मदद से बीजेपी की इंट्री हो सकती है.

रजनीकांत को बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान ही राजनीति में आने का निमंत्रण दिया था जिसे रजनीकांत ने विनम्रता से ठुकरा दिया था. रजनीकांत को सहस्त्राब्दी के महानायक अमिताभ बच्चन ने ही राजनीति में आने से रोका था. अमिताभ ने राजनीति के अपने कसैले अनुभव साझा किये थे. लेकिन अब तमिलनाडू का राजनीतिक परिद्रश्य जिस तरह बदला है वह रजनीकांत और भाजपा दोनों के लिये मुफीद हो सकता है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top