केजरीवाल के क़ानून मंत्री रहे जितेन्द्र तोमर की एलएलबी डिग्री रद्द

 2017-03-20 15:07:03.0

केजरीवाल के क़ानून मंत्री रहे जितेन्द्र तोमर की एलएलबी डिग्री रद्द


नई दिल्ली. अरविन्द केजरीवाल सरकार में क़ानून मंत्री रहे जितेन्द्र सिंह तोमर की क़ानून की डिग्री को रद्द कर दिया गया है. बिहार के भागलपुर ज़िले में स्थित तिलकमाँझी यूनिवर्सिटी ने सीनेट की बैठक के बाद यह फैसला लिया है. यह फैसला जितेन्द्र सिंह तोमर द्वारा यूनीवर्सिटी को दिये गये गलत माइग्रेशन सार्टिफिकेट की वजह से लिया गया है.

दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार में क़ानून मंत्री बनने के बाद जीतेन्द्र सिंह तोमर तब विवादों में घिर गये थे जब उनके खिलाफ कानून की फर्ज़ी डिग्री का मामला दर्ज कराया गया था. मामला दर्ज होने के बाद न सिर्फ तोमर को मंत्री पद से हटना पड़ा बल्कि गिरफ्तारी भी झेलनी पड़ी थी. तिलकमाँझी यूनिवर्सिटी के प्रो. वाइस चांसलर ए.के. राय ने बताया कि यूनिवर्सिटी सिंडिकेट ने परीक्षा बोर्ड के फैसले को मानते हुए आम आदमी पार्टी के विधायक और दिल्ली के क़ानून जितेन्द्र सिंह तोमर की एलएलबी की डिग्री रद्द कर दी गई है. उन्होंने बताया कि गलत माइग्रेशन सार्टिफिकेट के आधार पर यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने की वजह से उनकी डिग्री को रद्द करने के लिये यूनिवर्सिटी की अनुशासन समिति ने अनुशंसा की थी.

उन्होंने बताया कि यूनिवर्सिटी ने इस सम्बन्ध में पहले राजभवन से अनुमति मांगी थी और अनुमति मिलने के बाद ही यह मामला सीनेट में रखा गया. यूनीवर्सिटी ने इस मामले में दोषी कर्मचारियों पर भी कार्रवाई करने की अनुशंसा की है. राजभवन से अनुमति मिलने के बाद कर्मचारियों पर भी कार्रवाई होगी. 

जितेन्द्र सिंह तोमर की फर्जी डिग्री का मामला 2015 में उठा था. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में उन्हें हिरासत में लेकर यूपी के कई विश्वविद्यालयों में उनकी शिनाख्त परेड करवाई थी. जीतेन्द्र सिंह ने क्योंकि उत्तर प्रदेश नहीं बिहार से एलएलबी किया था इसी वजह से यहाँ उनकी शिनाख्त नहीं हो पाई थी. हाल ही में दिल्ली पुलिस ने इस मामले में चार हज़ार पन्नों की चार्जशीट दायर कर दी है. जिसमें 16 लोगों पर आरोप तय किये गये हैं. इनमें एक नाम मुंगेर लॉ कालेज के प्रिंसपल सुरेन्द्र कुमार भी शामिल हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top