Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब विश्वनाथ मंदिर में फूस की यज्ञशाला में होंगे यज्ञ

 Anurag Tiwari |  2017-01-17 06:42:42.0

अब विश्वनाथ मंदिर में फूस की यज्ञशाला में होंगे यज्ञ

तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी.
पूर्व में निर्धारित पक्की यज्ञशाला के बजाया अब काशी विश्वनाथ मंदिर में फूस की यज्ञशाला का निर्माण होगा. फूस की यह यज्ञशाला तीन मंजिला होगी. यह मंदिर परिसर में आग्नेय कोण में बनाई जाएगी. साथ ही इस यग्य मंडप में चारों वेदों के नाम पर द्वार भी बनाए जाएंगे.

इस फूस की तीन मंजिला यज्ञशाला के निर्माण के लिए भूमि पूजन हो चुका है. इस भूमि-पूजन में मंदिर न्यास परिषद के अध्यक्ष आचार्य अशोक द्विवेदी और मंदिर के सीईओ एसएन त्रिपाठी शामिल हुए थे.


आचार्य अशोक द्विवेदी के अनुसार इस यज्ञशाला में 16 देवताओं के नाम पर खंबे बनाए जाएंगे. साथ ही चारो वेदों के नाम पर चारो दिशाओं में यज्ञ मंडप के द्वार भी बनाए जाएंगे. इस यज्ञशाला का निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद, इसमें श्रद्धालु अतिरुद्र, लघुरुद्रा और महारुद्र यज्ञ कर सकेंगे.


बता दें कि इससे पहले 27 लाख रुपयों की लागत से यज्ञशाला के निर्माण की योजना बनी थी. लेकिन अब न्यास इस योजना को स्थगित करते हुए फूस की यज्ञशाला बनवाए जाने का फैसला किया है. इस तीन मंजिला याग्य्श्ला को बनाए जाने के लिए फूस, बांस, कास और गन्ने की पत्तियों का प्रयोग होगा.


इस यज्ञशाला के डिजाईन और निर्माण के लिए कोलकता के करीगरों से सम्पर्क साधा गया है. न्यसा अश्यक्ष आचार्य अशोक द्विवेदी के अनुसार यज्ञशाला का निर्माण पूर्ण हो जाने के बाद कोई भी श्रद्धालु यग्य के लिए निर्धारित शुल्क देकर यज्ञ करा सकेगा. बता दें कि पहली बार विश्वनाथ मन्दिर में 1982 में यज्ञ सम्पन्न हुआ था.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top