Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

क्या आप जानते हैं अपने एटीएम कार्ड में छुपा ये राज

 Avinash |  2017-02-14 13:28:46.0

क्या आप जानते हैं अपने एटीएम कार्ड में छुपा ये राज

तहलका न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली. पिछले साल आठ नवंबर को की गई नोटबंदी के बाद से केंद्र सरकार देश में कैशलेस इकॉनमी को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है. इस अभियान के तहत मोदी सरकार द्वारा तमाम योजनाओं को भी लागू लागु किया गया है, लेकिन जब भी हम कैशलेस ट्रांससेक्शन की बात करते हैं तो सबसे पहले हमारे मन में एटीएम(डेबिट) और क्रेडिट कार्ड की तस्वीर सामने आ जाती है.

गौरतलब है कि, वर्तमान समय में देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा एटीएम कार्ड का इस्तेमाल पैसे के लेनदेन में करता है. एटीएम कार्ड के इस्तेमाल के कई फायदे भी है, इसके प्रयोग से लूट आदि होने का खतरा भी कम हुआ है.
आज हम आपको एटीएम कार्ड के बारे में ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं, जिसे आपने पैसे के लेनदेन के दौरान इस्तेमाल तो किया होगा, लेकिन आपका ध्यान इस ओर नहीं गया होगा. जी हाँ, हम बात कर रहे हैं एटीएम कार्ड में लिखे हुए 16 डिजिट के नम्बर की. डेबिट और क्रेडिट पर लिखे इन नंबरों का इस्तेमाल करके आप उस कार्ड से भुगतान कर सकते हैं. इतना ही नहीं इन कार्ड्स पर दिए गए नंबरों से आपके बैंक खाते की सारी डिटेल्स भी हासिल की जा सकती है. बता दें कि, शुरू के 6 अंक बैंक आइडेंटिफिकेशन नंबर होते हैं वहीँ बचे हुए 10 अंक कार्डधारक का यूनिक अकाउंट नंबर होता है.

आइए इन डिजिट के बारे में विस्तार से जानें

एटीएम कार्ड का पहला नंबर उस इंडस्ट्री को दर्शाता है, जिसने कार्ड जारी किया है. जैसे बैंक, पेट्रोलियम कंपनी इत्यादि. इसे मेजर इंडस्ट्री आइडेंटिफायर (एमआईआई) कहते हैं. यह अलग-अलग इंडस्ट्री के लिए अलग-अलग होता है.

MII Digit - जारी करने वाली इंडस्ट्री

0 - ISO और अन्य इंडस्ट्री

1 - एयरलाइन्स

2 - एयरलाइन्स और अन्य इंडस्ट्री

3 - ट्रैवल्स और इंटरटेनमेंट (अमेरिकन एक्सप्रेस या फूड क्लब)

4 - बैंकिंग और फाइनेंस (वीजा)

5 - बैंकिंग और फाइनेंस (मास्टर कार्ड)

6 - बैंकिंग और मर्चेंडाइजिंग

7 - पेट्रोलियम

8 - टेलिकम्युनिकेशन्स और अन्य इंडस्ट्री

9 - नेशनल असाइनमेंट

पहले 6 नंबर का मतलब है यह

डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के पहले 6 नंबर कार्ड जारी करने वाली कंपनी को दर्शाता है. इसे Issuer Identification Number (IIN) कहते हैं.
जैसे –

कंपनी IIN

अमेरिकन एक्सप्रेस- 34XXXX, 37XXXX

वीजा- 4XXXXX

मास्टर कार्ड- 51XXXX-55XXXX

सातवें नंबर से लेकर अंतिम का एक नंबर छोड़ने तक

सातवें नंबर से लेकर एन-1 (कार्ड के आखिरी नंबर को छोड़कर) तक का नंबर आपके बैंक अकाउंट नंबर से लिंक रहता रहता है. यह शत प्रतिशत आपका बैंक अकाउंट नंबर नहीं होता, लेकिन उससे सम्बद्ध होता है.

आखिरी नंबर

डेबिट या क्रेडिट कार्ड का आखिरी नंबर चेक डिजिट के नाम से जाता है. इसके माध्यम से यह जाना जाता है कि कार्ड वैलिड है या नहीं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top