Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

...इसलिये भाजपा ने ठुकराया लालू यादव का दही-चूड़ा भोज

 shabahat |  2017-01-14 10:57:34.0

...इसलिये भाजपा ने ठुकराया लालू यादव का दही-चूड़ा भोज


पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने मकर संक्रांति के मौके पर आज (शनिवार को) यहां चूड़ा दही के भोज पर सभी दलों के नेताओं को न्योता भेजा लेकिन यह पहली बार हुआ कि लालू की बुलाई दावत में भारतीय जनता पार्टी का एक भी नेता शामिल नहीं हुआ. लालू यादव हर साल मकर संक्रांति के मौके पर सभी दलों के नेताओं को भोज पर आमंत्रित करते हैं और सभी दलों के नेता उसमें शामिल होते रहे हैं.

राष्ट्रीय जनता दल के पार्षद भोला यादव ने बताया कि लालू यादव जी के निर्देश पर मैंने खुद टेलीफोन के ज़रिये भारतीय जनता पार्टी के सुशील मोदी, नित्यानंद राय, नन्दकिशोर यादव के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को भोज में आमंत्रित किया था. इन सभी नेताओं ने लालू जी के आमंत्रण को खुशी-खुशी स्वीकारते हुए आने की बात कही थी लेकिन वादे के बावजूद यह लोग नहीं पहुंचे.

हाल ही में प्रकाश पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच जो खुशगवार माहौल देखने को मिला था उसी के मद्देनज़र राजद के मुखिया लालू प्रसाद यादव ने भी मकर संक्रांति के मौके पर भाजपा नेताओं के दही-चूड़ा के भोज का आमंत्रण भेजा. भाजपा नेताओं ने फोन पर तो भोज में शामिल होने की हामी भर ली लेकिन लालू के भोज में शामिल न हो पाने का बहाना भी तलाश लिया. सूत्र बताते हैं कि बिहार के भाजपा नेता लालू यादव को यह बताने वाले हैं कि हम लोग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जयपुर में होने वाले कार्यक्रम में व्यस्त होने की वजह से नहीं पहुँच पा रहे हैं.

दरअसल बिहार में बीजेपी और जनता दल यूनाइटेड का गठबंधन 2013 में टूट गया था. यह गठबंधन टूटने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को करीब आते देखकर लालू प्रसाद यादव ने भी यह फैसला किया कि दही-चूड़ा भोज के बहाने सभी राजनीतिक दलों में सामंजस्य बनाया जाये. लालू की यह कोशिश बिहार के भाजपा नेताओं ने नाकाम कर दी है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top