Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

केजरीवाल ने खुद कराया था सुच्चा सिंह का स्टिंग आपरेशन

 Sabahat Vijeta |  2016-08-27 17:21:37.0

suchcha
नई दिल्ली. अरविन्द केजरीवाल ने अपने खिलाफ आम आदमी पार्टी में मोर्चा खोले सुच्चा सिंह को पंजाब के संयोजक पद से हटा दिया. टिकट के नाम पर दो लाख रुपये पार्टी फंड के नाम पर मांगते सुच्चा सिंह स्टिंग आपरेशन में फंस गए थे. सुच्चा सिंह के इस स्टिंग से आम आदमी पार्टी की काफी किरकिरी हुई थी.


संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर के हैं. पंजाब में चुनाव की तैयारियां चल रही हैं और वहां आम आदमी पार्टी की अच्छी स्थिति है. बताया जाता है कि अरविन्द केजरीवाल को यह सूचना मिली थी कि सुच्चा सिंह पार्टी का दो लाख रुपये में टिकट बेच रहे हैं. इस जानकारी के बाद अरविन्द केजरीवाल ने सुच्चा से इस्तीफा मांगा मगर उन्होंने अपनी ईमानदारी का हवाला देकर इस्तीफ़ा देने से इन्कार कर दिया. उनके इनकार के बाद अरविन्द ने स्टिंग की बिसात बिछाई और सुच्चा उसमें फंस गए. स्टिंग सामने आने के बाद सुच्चा को निष्कासित करना आसान हो गया. लेकिन अपने निष्कासन के बाद सुच्चा सिंह ने केजरीवाल और पार्टी के अन्य नेताओं पर दो-दो करोड़ में टिकट बांटे जाने का आरोप मढ़ा है.


पंजाब में टिकट बंटवारे को लेकर नाराज चल रहे सुच्चा सिंह छोटेपुर ने अपने खिलाफ पार्टी में बड़ी साजिश का इल्जाम लगाया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया कोई डिप्टी सीएम नहीं बल्कि जासूस है. दिल्ली के चुनाव में उन्होंने अपना पैसा बहाया. पंजाब में संगठन को खड़ा करने में खून-पसीना बहाया. ढाई साल से दिन-रात आम आदमी पार्टी के लिए काम करता रहा. 24 घंटे में 18 से 19 घंटे पार्टी को दिए. दिल्ली चुनाव के लिए विदेशों से चंदा वसूलकर पार्टी को दिया. आज दो लाख रुपये की बात कहकर मेरे खिलाफ साजिश रची गई. सुच्चा सिंह ने 40 साल से पंजाब में अपनी ईमानदार सियासत की दुहाई दी. 1985 में इलेक्शन लड़ा तो अकाली दल से विधायक बना. जो भी चंदा लिया तो पार्टी को दे दिया. मैं छोटा आदमी हूं. जनता का आदमी हूं. अब पंजाब के लोग तय करें कि मैं चोर हूं या फंसाया गया हूँ.


सुच्चा सिंह ने कहा कि पार्टी ने शुरू में ही तय कर लिया था कि किसी भ्रष्ट आदमी को टिकट नहीं मिलेगा. बल्कि पार्टी के लिए जी-जान से जुटे वालंटियर्स व अच्छी छवि वाले लोगों को ही वरीयता मिलेगी. मगर, दिल्ली के नेताओं ने दो-दो करोड़ में करीबियों व भ्रष्ट छवि वाले लोगों को टिकट बेचे. मैंने इसका विरोध किया तो मेरे खिलाफ स्टिंग की साज़िश रची गई.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top