Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

देश की राजधानी नागपुर नहीं दिल्ली है : कन्हैया

 Sabahat Vijeta |  2016-03-16 12:35:33.0

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


kanhaiya-kumarनई दिल्ली, 16 मार्च. जे.एन.यू. छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और वामपंथी छात्र संगठनों ने मंडी हाउस से संसद मार्ग थाने तक आज डेमोक्रेसी रैली निकाली. इस रैली के ज़रिये केन्द्र सरकार के सामने एक बार फिर शक्ति प्रदर्शन किया गया. कन्हैया ने इस रैली में दिए भाषण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर रखा और कहा कि उत्तर प्रदेश के चुनाव में जवाब दिया जाएगा. चुनौतीपूर्ण अंदाज़ में कन्हैया ने प्रधानमंत्री से कहा कि आप यूपी जाइये, पीछे-पीछे हम भी आ रहे हैं.


इस डेमोक्रेसी रैली में छात्र, शिक्षक, साहित्यकार, कलाकार और कुछ मुस्लिम संगठनों की भागीदारी रही. कन्हैया इस रैली के ज़रिये संसद का घेराव करने की योजना से आये थे लेकिन पुलिस ने संसद मार्ग पर रोक लिया. मंडी हाउस से यह डेमोक्रेसी रैली दोपहर साढ़े 12 बजे शुरू होनी थी जो कि साढ़े तीन बजे शुरू हो पाई.


सुरक्षा कारणों से कन्हैया को रैली में नहीं चलने दिया गया. वह टैम्पो से सीधे संसद मार्ग थाने के पास भाषण देने पहुंचे. अपने भाषण में कन्हैया ने प्रधानमंत्री मोदी को उत्तर प्रदेश चुनाव में देख लेने की खुली चुनौती देते हुए कहा कि आप यूपी जाइए, पीछे-पीछे हम भी आ रहे हैं. इस रैली में वामपंथी नेता डी. राजा, कविता कृष्णन आदि मौजूद रहे।




कन्हैया ने कहा कि यूपी की जनता पूछेगी कि अभी तक कहां थे तो हम उसे बताएंगे कि यह जेएनयू में छात्रों को देशद्रोही बनाने में लगे थे. कन्हैया हरियाणा में जाट आंदोलन पर कहा कि वहां लट्ठमार होली खेली जाती है, पर सुना है इस बार पेट्रोल बम की होली में जाट वर्सेस नॉन जाट को लड़वा दिया गया.


उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को यह बात अच्छी तरह से समझ लेनी चाहिए कि देश की राजधानी नागपुर नहीं दिल्ली है और देश भाजपा मुख्यालय से नहीं, संसद से चलेगा. यह देश लोकतंत्र और संविधान से चलेगा, जनसंघ की विचारधारा से नहीं चलेगा.



कन्हैया ने प्रधानमंत्री से कहा कि देश में नफरत फैलाने का काम तुम कर रहे हो. हम तो छात्र हैं, जो पढ़ाई करते हैं. उन्होंने स्मृति ईरानी को पद से इस्तीफा देने और उमर खालिद तथा अनिर्बन से देशद्रोह का मुकदमा वापस लेने की मांग की.


उन्होंने कहा कि मोदी तुम चाहते हो कि हम सिर्फ तुम्हारी बात बोले पर ऐसा नहीं होगा. जेएनयू में पाकिस्तान जिन्दाबाद के नारे लगे, हम भी बोलते हैं, गलत हुआ. पर पाकिस्तान ही क्यों हम तो दुनिया के सभी देशों के लिए जिन्दाबाद के नारे लगाएंगे.

  Similar Posts

Share it
Top