Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पाकिस्तान राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने दी हिंदू विवाह विधेयक कानून को स्वीकृति

 Sonalika Azad |  2017-03-20 04:08:30.0

पाकिस्तान राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने दी हिंदू विवाह विधेयक कानून को स्वीकृति

तहलका न्यूज़ ब्यूरो
इस्लामाबाद :
पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय से जुड़े बहुप्रतीक्षित विवाह कानून को राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने मंजूरी दे दी है जिसके बाद यह विधेयक अब कानून बन गया है. विधेयक के अब कानून बनने के बाद वहां रहने वाले अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय को विवाह के बाद कानूनी मान्यता मिल सकेगी. राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद पाकिस्तान के हिंदुओं को शादियों के नियमन के लिए एक विशेष पर्सनल लॉ' मिल गया.



इस कानून का उद्देश्य हिंदू विवाह, परिवारों, महिलाओं और उनके बच्चों के अधिकारों की रक्षा करना है. पीएमओ के बयान में कहा गया, 'यह कानून पाकिस्तान में हिंदू परिवारों में होने वाली शादियों को गंभीरता देने के लिए है. पाकिस्तान में रहने वाले हिन्दू इस विधेयक को व्यापक तौर पर स्वीकार करते हैं क्योंकि यह शादी, शादी के पंजीकरण, अलग होने और पुनर्विवाह से संबंधित है. इसमें लड़के और लड़की दोनों के लिए शादी की न्यूनतम उम्र 18 साल तय की गई है


प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने कहा कि उनकी सरकार ने हमेशा ही पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों के समान अधिकारों का ध्यान रखा है. उन्होंने कहा, 'वह अन्य समुदाय की तरह ही देशभक्त हैं, इसलिए यह राज्य की ज़िम्मेदारी है कि वह उन्हें समान सुरक्षा दे. बयान में कहा गया कि हिंदू परिवार अपने रीति-रिवाज, परंपरा और समारोह के अनुसार शादियां कर सकेंगे. इस कानून के अनुसार, सरकार हिंदू जनसंख्या के हिसाब से इलाकों में मैरिज रजिस्ट्रॉर की नियुक्ती करेगी. यह कानून वैवाहिक अधिकारों की बहाली, कानूनन अलग होने, पत्नी व बच्चों की आर्थिक सुरक्षा, शादी टूटने और आपसी सहमति से शादी तोड़ते वक्त मिलने वाली वैकल्पिक राहत का अधिकार भी देता है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top