Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

CM उम्मीदवार के लिए इंटरनल सर्वे कराएगी BJP

 Girish Tiwari |  2016-06-12 10:25:24.0

amit_shah
विद्या शंकर राय 
इलाहाबाद, 12 जून. उत्तर प्रदेश की प्रयागनगरी इलाहाबाद में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता राज्य में वर्ष 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर मंथन करेंगे। बसपा सुप्रीमो मायावती और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने भाजपा का चेहरा कौन होगा, इसे लेकर पार्टी राज्य में एक आंतरिक सर्वे कराएगी। सर्वे में छह नाम शामिल किए जाएंगे और यदि सम्भव हुआ तो उप्र में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश किया जाएगा।


भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने आईएएनएस से कहा कि उप्र में चेहरा कौन होगा, इसे लेकर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता, लेकिन पार्टी इसपर रणनीति बनाने में जरूर जुटी हुई है।

नेता ने कहा, "उप्र में पार्टी के भीतर एक आंतरिक सर्वे कराया जाएगा, जिसमें छह नाम शामिल किए जाएंगे। इन नामों पर लोगों की राय जानी जाएगी। इन्हीं नामों से बाद में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश किया जाएगा।"

उप्र में भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा, इसे लेकर अटकलों का दौर जारी है। पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह का नाम काफी दिनों से चर्चा में है। इसके अलावा समय-समय पर गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ, भाजपा के फायर ब्रांड नेता वरुण गांधी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के नाम भी कई बार उछाले गए, लेकिन पार्टी ने अभी किसी नाम पर अपनी मंजूरी नहीं दी है।

भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर का मानना है कि "उप्र में पार्टी किसी को पेश कर चुनाव लड़ेगी या सामूहिक नेतृत्व के साथ जाएगी, इसका फैसला नहीं हुआ है। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इस पर जो भी निर्णय लेगा, उसके साथ ही चुनाव में उतरा जाएगा।"

भाजपा के सूत्र बताते हैं कि उप्र में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश करने को लेकर पार्टी काफी सजग है। पार्टी हर कदम फूंक-फूंक कर उठाना चाह रही है।

भाजपा के रणनीतिकारों के अनुसार, जिन छह नामों को सर्वे में शामिल किए जाने की सम्भावना है, उनमें केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, डॉ. महेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा व केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया शामिल हैं।

पार्टी सूत्र के अनुसार, सर्वे रपट दो महीने के भीतर आ जाएगी और इसके बाद इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के पास भेजा जाएगा। रपट आने के बाद ही तय होगा कि भाजपा किसी को उप्र में मुख्यमंत्री चेहरा बनाएगी या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर ही जनता के बीच जाएगी।

पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा, "हां इस बात की चर्चा है कि सर्वे कराया जाएगा, लेकिन यह कब तक होगा और इसकी प्रक्रिया क्या होगी, यह कहना जल्दबाजी होगी।" (आईएएनएस)|


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top