Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

तिरंगा यात्रा के नाम पर तिरंगे का अपमान कर रही है भाजपा

 Sabahat Vijeta |  2016-08-16 14:06:31.0

rajendra-chaudhary


लखनऊ. समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि जिन चुनावी वादों के बल पर भाजपा ने केन्द्र की सत्ता हासिल की उनकी ओर लोगों का ध्यान न जाए इसलिए अब नए-नए स्टंट आयोजित किये जा रहे हैं। तिरंगा यात्रा के नाम पर भाजपा राष्ट्रीय भावना को विकृत करने में लग गई है। तिरंगा को लेकर देशवासियों ने कितनी कुर्बानियाँ दी थी तब देश आजाद हुआ था। तिरंगे की आन-शान के लिए सीमा पर जवान शहादत देते हैं। उस तिरंगे को अपनी पार्टी के न्यस्त स्वार्थो के लिए इस्तेमाल करने में भाजपा लग गई है। यह तिरंगे का घोर अपमान है।


भाजपा ने आजादी के जश्न को ‘याद करो कुर्बानी’ नाम देकर शहीदों की कुर्बानी को भुनाने का काम किया। अब इस कुर्बानी की याद को ‘तिरंगा यात्रा’ से जोड़कर भाजपा ने शहादत का मजाक बनाने का काम किया है। जो लोग आजादी की लड़ाई लड़ रहे थे वे किसी पार्टी के लिए नही, देश के लिए संघर्ष कर रहे थे। उनको अपनी पार्टी के घेरे में बांधना उनका अपमान करना है।


सच तो यह है कि भाजपा और उसके मातृ संगठन आरएसएस का स्वतंत्रता संग्राम से दूर-दूर तक कोई संबन्ध नही था। बल्कि संघ उस संग्राम में अंग्रेजों के समर्थन में खड़ा दिखाई पड़ता था। भारत की आजादी की लड़ाई हिन्दू-मुसलमान, सिक्ख, ईसाई सभी ने मिलकर लड़ी थी। भाजपा-संघ उनमें भेदभाव करता है और राष्ट्रीय एकता के तार को छिन्न भिन्न करता है।


भाजपा और संघ दोनो चुनावों के खेल में जिस तरह राष्ट्रीय प्रतीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं वह नितांत अनुचित और संविधान की मूलभावना के प्रतिकूल है। संविधान में सभी धर्माे के सम्मान और उनके मानने वालों की सुरक्षा की गारंटी है। भाजपा-संघ अल्पसंख्यकों के प्रति दुराव रखते हैं। शहीदों के नाम को व्यापार का साधन नहीं बनाया जाना चाहिए।


देश इस समय कई समस्याओं से जूझ रहा है। मंहगाई चरम पर है जिससे आम आदमी का जीना दूभर हो गया है। किसान सूखा और बाढ़ से परेशान है। गरीबी में जिंदगी जीने वालो को रोटी, कपड़ा, मकान की छत भी नसीब नही है। सीमा पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। भाजपा-संघ का इन पर नही है। भाजपा की केन्द्र सरकार जनता की तकलीफों पर ध्यान देने के बजाय नए-नए जुमले उछालकर लोगों को गुमराह करना चाहती है।


उत्तर प्रदेश में भाजपा संघ की चालें सफल होने वाली नही है। यहाँ समाजवादी सरकार ने विकास की तमाम योजनांए लागू कर उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की दिशा में कदम बढ़ाए है। जनता मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ हैं। समाजवादी सरकार धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद और लोकतंत्र के लिए प्रतिबद्ध है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top