Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ये है यूपी का शामली, हिंदू-मुस्लिम मिलकर बचा रहे एक-एक बूंद पानी

 Abhishek Tripathi |  2016-05-27 10:39:26.0

shamiliतहलका न्यूज ब्यूरो
शामली. आपने हमेशा सुना होगा कि यूपी के पश्चिमी जिलों में दंगा हो गया। लोगों को सरेआम काट दिया गया या फिर जिंदा जला दिया गया। लेकिन इस बार पश्चिमी यूपी का नाम एक ऐसे काम के लिए सामने आया है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। यूपी के शामली जिले में स्थित मलकपुर गांव के लोग सूख चुकी एक नदी को पुर्नजीवित करने में जुटे हैं। इस काम में हिंदू और मुस्लिम सभी एक दूसरे का सहयोग कर रहे हैं।


बता दें कि बीते रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी अपने रेडियो प्रोग्राम 'मन की बात' में पानी को बचाने की बात कही थी। मोदी ने कहा था कि पानी को बचाने का काम किसी एक वर्ग का नहीं बल्कि सभी वर्गों का है। सभी को पानी बचाने के लिए सार्थक प्रयास करना चाहिए। ऐसा करने से ही पीने योग्य पानी उपलब्ध हो सकेगा।


मलकपुर गांव में चल रही इस पहल का एक बेहद दिलचस्प पहलू और भी है। यूपी का जो शामली जिला कुछ समय पहले सांप्रदायिक तनावों के चलते सुर्ख़ियों में था, जहां हज़ारों लोगों को सांप्रदायिक दंगों के चलते बेघर होना पड़ा था, उसी जिले का मलकपुर गांव आज सांप्रदायिक सौहार्द का उदाहरण बन रहा है। मलकपुर गांव की 55 प्रतिशत आबादी मुस्लिम है लेकिन, इनका प्रतिनिधित्व एक हिंदू ग्राम प्रधान करता है। इस मुहिम में यह हिंदू ग्राम प्रधान एक मुस्लिम वैज्ञानिक के दिशा-निर्देशों पर उन तमाम लोगों को अपने साथ लिए आगे बढ़ रहा है जो धार्मिक भेद-भाव से ऊपर उठकर अपनी साझी विरासत और अपने प्राकृतिक संसाधनों को बचाने की जिद्द पाले हुए हैं।


दे रहा एक अच्छा संदेश
शामली जिले का यह छोटा सा गांव सिर्फ पानी की उस विराट समस्या से ही निपटने की प्रेरणा नहीं देता, जिसके चलते हजारों किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं, बल्कि उस सांप्रदायिक भेदभाव से उभरने की प्रेरणा भी देता है जिसके चलते देश में दर्जनों नरसंहार हो चुके हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top