Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सेल्फी के चक्कर में लोग करते हैं गायों का उत्पीड़न

 Vikas Tiwari |  2016-08-23 14:36:38.0

उमा भारतीझांसी: केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने यहां मंगलवार को कहा कि गोरक्षा के नाम पर लोग गायों का उत्पीड़न करते हैं। कई बार देखा जाता है कि लोग गाय के साथ सेल्फी खींचने के चक्कर में उसे बांध देते हैं, यह कतई न होना चाहिए। भाजपा की तिरंगा यात्रा में शामिल होने आईं झांसी-ललितपुर की सांसद उमा भारती ने सर्किट हाउस में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि लोग गोरक्षा के नाम पर गायों का उत्पीड़न करते हैं।

उमा भारती ने कहा- सेल्फी खींचने के लिए गायो घसीटते हुए लाते है


उन्होंने बताया, "जब मैं मध्यप्रदेश में दौरों पर जाती थी, तो वहां लोग मुझसे गाय को रोटी खिलवाकर सेल्फी खींचने के लिए उसे घसीटते हुए लाते थे। मैं हमेशा इसके खिलाफ रही।"

उमा ने कहा कि गोरक्षा ऐसे नहीं होती है कि आप उसे सड़क पर छोड़ दें, बल्कि उनका पालन कर रक्षा करना होता है। ऐसी गायें जो विकलांग हो गई हों, उनके लिए गोशाला बननी चाहिए।

यह भी पढ़ें : भारत की दोस्ती से अमेरिका दे रहा है पाकिस्तान को बड़ा झटका


हालांकि गोरक्षा के नाम पर दलित और अन्य समाज के लोगों पर हो रहे उत्पीड़न पर कुछ बोलने से वह बचती रहीं।

उत्तर प्रदेश की सपा सरकार पर तीखा हमला करते हुए केंद्रीय मंत्री उमा ने कहा कि अखिलेश की पुलिस केवल उनके सगी-संबधियों की रक्षा करती है, न कि आम लोगों की।

उन्होंने कहा कि सपा की तीन लेयर होती है- वोटर, उम्मीदवार और परिवारवाद।

उमा ने कहा कि सपा में चल रहे अंतर्कलह में यदि परिवार बिखर गया तो सपा पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि बुलंदशहर की घटना के बारे में सोचकर उनकी रूह कांप जाती है। पुलिस केवल अखिलेश के सगी-संबंधियों की सुरक्षा में लगे रहते हैं। उप्र पुलिस आम जनता की सुरक्षा के लिए नहीं है। यही कारण है कि मां के सामने बेटी और पति के सामने पत्नी का दुष्कर्म खुलेआम हो रहा है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top